Patrika Hindi News

> > > > ???BHU out from Times Higher Education World University Rankings 2016-17

दुनिया की श्रेष्ठ 600 य़ूनिवर्सिटीज में BHU नहीं, अलीगढ़ यूनिवर्सिटी को मिला स्थान

Updated: IST BHU
यूपी से अलीगढ़ मुस्मिल यूनिवर्सिटी व कानपुर आईआईटी का नाम, शताब्दी वर्ष में बड़ी निराशा, बीएचयू के जिम्मेदारों को इस रैंकिंग की जानकारी ही नहीं.

डॉ. अजय कृष्ण चतुर्वेदी

वाराणसी. उच्च शिक्षा के क्षेत्र में इस बार भारत की स्थिति में सुधार हुआ है। दुनिया के श्रेष्ठ विश्वविद्यालयों की सूची में इस दफा देश के 31 विश्वविद्यालयों ने अपना नाम दर्ज कराया है। लेकिन इस सूची में महामना की कृति काशी हिंदू विश्वविद्यालय का नाम नहीं है। यह चिंता का विषय है जबकि उत्तर प्रदेश से अकेले अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने श्रेष्ठता सूची में अपना नाम दर्ज कराने में सफलता हासिल कर ली है। बतादें कि बीएचयू इस साल शताब्दी वर्ष मना रहा है। शताब्दी दीक्षांत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शताब्दी वर्ष के विशेष व्याख्यान में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी इस पर चिंता जता चुके हैं। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों ही इस आशय का संदेश दे चुके हैं कि बीएचयू को भी अपने शैक्षणिक गतिविधियों व शोध में सुधार लाने की जरूरत है। पीएम ने तो कई बिंदुओं की ओर इशारा भी किया, कहा कि देश की जरूरतों के मुताबिक विश्वविद्यालय में शोध हो तो शताब्दी वर्ष में संस्थापक महामना को इससे बड़ी श्रद्धांजलि नहीं हो सकती।

सवाल बीएचयू क्यों नहीं

अब सवाल ये कि ऐसा क्या है कि दुनिया के 600 विश्वविद्यालयों में बीएचयू का नाम नहीं है। ये तब है जब यहां वो हर विभाग हैं जो अन्य कई यूनिवर्सिटीज में नहीं। बात-बात में कहा जाता है ऐसी यूनिवर्सिटीज दुनिया में कहीं नहीं। इस संबंध में जब पत्रिका ने बीएचयू के समाज शास्त्र विभाग के अध्यक्ष प्रो. अरविंद जोशी से बात की तो उनका जवाब था, कई मानक हैं जिन पर अन्य विश्वविद्यायलय बढा-चढ़ा का सूचनाएं भेजते हैं। मानकों में इंफ्रास्ट्रक्चर भी है जिसके तहत दक्षिण के विश्वविद्यालयों की स्थिति जरूर हमसे बेहतर है। उन्होंने बताया कि अलीगढ़ से तो बीएचयू की कोई तुलना ही नहीं। चाहे वह फेकेल्टी की बात हो या आधारभूत संरचना या शोध की। अकेले समाज शास्त्र में ही अलीगढ़ में सिर्फ छह फेक्ल्टी है जबकि बीएचयू में 26, इसके अलवा शोध के मामले में हम उनसे दोगुने हैं। प्रो. जोशी ने यहां तक कहा कि यह भी संभव है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस प्रतियोगिता के लिए अपनी प्रविष्टि भेजी ही न हो। प्रो. जोशी के इस कथन की पुष्टि होती है ज्वाइंट रजिस्ट्र्र एकेडमिक एमके पांडेय के बयान से जिनका कहना है कि उनकी जानकारी में ऐसा कुछ भी नहीं है। इस संबंध में ज्वाइंट रजिस्ट्रार डेवलपमेंट संजय कुमार का भी वहीं जवाब था कि उन्हें भी इसकी जानकारी नहीं। इस बाबत कुलपति के सचिव नीरज त्रिपाठी, कुलसचिव डॉ. केपी उपाध्याय से भी संपर्क किया गया लेकिन सभी का जवाब था कि उन्हें ऐसी कोई जानकारी ही नहीं।

ये हैं देश की श्रेष्ठ यूनिवर्सिटीज

टाइम्स हायर एजुकेशन वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2016-17 की सूची लंदन में जारी की गई है। इसके अनुसार भारतीय विश्वविद्यालयों में इंडिनय इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी), बंगलूरू सबसे ऊपर है। शीर्ष 400 विश्वविद्यालयों की सूची में भारत के सिर्फदो विश्वविद्यालय हैं। आईआईएससी ने 2001 से 250 पायदान के बीच अपना स्थान बनाया है। इसके अलावा आईआईटी मुंबई 351 से 400 के बीच स्थान बनाने में कामयाब रहा है। हालांकि शीर्ष 200 की सूची से अब भी भारत बाहर है।

दुनिया के 600 श्रेष्ठ विश्वविद्यालयों की सूच में भारत व यूपी

दुनिया के श्रेष्ठ 600 विश्वविद्यालयों की सूची में आईआईटी दिल्ली, आईआईटी कानपुर, आईआईटी चेन्नई, खड़गपुर और आईआईटी रुड़की ने अपना स्थान बनाया है। इसके अलावा जादवपुर यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी पिलानी, कोलकाता यूनिवर्सिटी, दिल्ली यूनिवर्सिटी, आईआईटी गुवाहाटी, एनआईटी राउरकेला, पंजाब यूनिवर्सिटी, सावित्री बाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी, श्री वेंकटेश्वर यूनिवर्सिटी, टाटा इस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च, तेजपुर यूनिवर्सिटी, आचार्य नागार्जुन यूनिवर्सिटी, एमिटी यूनिवर्सिटी, अमृता यूनिवर्सिटी, आंध्र यूनिवर्सिटी, कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नॉलजी, महाराज सयाजी राव यूनिवर्सिटी ऑफ बड़ौदा, मणिपाल यूनिवर्सिटी, उस्मानिया यूनिवर्सिटी, शास्त्र यूनिवर्सिटी, सत्यभामा यूनिवर्सिटी, एमआरएम यूनिवर्सिटी, बेल्लौर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी शामिल हैं।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे