Patrika Hindi News

ये है स्मार्ट काशी, जहां खिलाड़ी नहीं, पाले जाते हैं डेंगू के डंक

Updated: IST international footbalar Poonam Chauhan
जहां लोग आते हैं सेहत बनाने वहां बीमार पड़ीं अंतर्राष्ट्रीय फुटबालर पूनम. अब कहां जाएं सेहत बनाने के फिक्रमंद.

वाराणसी. ये है स्मार्ट सिटी। बड़े जद्दोजहद के बाद काशी को स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल किया गया है वह भी तीसरे अपरोच में। लेकिन क्या यही है स्मार्टनेस। यहां खिलाड़ियों के लिए जगह नहीं। यहां तो पाले जाते हैं डेंगू के डंक। शहर का कोई ऐसा इलाका नहीं जिसे आप स्मार्टनेस के दायरे में ला सकें। लंका से कैंट, राजघाट से शिवपुर होते बाबतपुर तक जहां भी नजर जाएगी कूड़े का ढेर ही मिलेगा। पुरानी काशी में चले जाएं तो गलियों में मिलेगा बहता सीवर का पानी और बजबजाती नालियां। शहर की सीमा पर पहुंचे तो वहां गड्ढों में भरा मिलेगा बारिश का पानी। यहां तक कि विश्व प्रसिद्ध रामनगर की रामलीला खत्म हो गई पर लीला क्षेत्र के गड्ढों में भरा पानी हटाने की जहमत किसी ने नहीं उठाई। यही हाल शिवपुर का है। फिर काहे न जन्म लें डेंगू के मच्छर। क्यों न जाए किसी की जान। मगर इससे बनारस प्रशासन और खास तौर पर नगर निगम, जलकल व स्वास्थ्य महकमें को इससे नहीं है कोई सरोकार। किसी की जान जाती है तो जाए अपनी बला से। और प्रशासन की यह बेरुखी रुला गई बनारस को, बनारसी खेल प्रेमियों को। डेंगू का डंक भारी पड़ गया तेज तर्रार अंतर्राष्ट्रीय फुटबालर चहकती, मुस्कराती पूनम पर। डेंगूं के इसी डंक ने काशी की बेटी को अपने आघोश में ले कर हमेशा के लिए सुला दिया। कभी हार न मानने वाली हार गई पूनम।

अंतिम सांस तक जूझती रही जिंदगी और मौत से

कभी हार न मानने वाली पूनम की तबीयत खराब थी। उसे तेज बुखार था। लेकिन उनसे फुटबाल को नहीं छोड़ा। मैदान पर जाना नहीं छोड़ा। बता दें कि सिगरा के डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम में ही उनकी तबीयत बिगड़ी। वो जगह जहां लोग सेहत बनाने आते हैं वहां इस फुटबालर की सेहत बिगड़ी। वह तिथि थी 16 अक्टूबर की। अगले दिन उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया। जहां वह दो दिनों तक लगातार जिंदगी और मौत से संघर्ष करती रहीं। लेकिन आखीर में जीवन हार गया और उन्होंने सदा के लिए आंखें मूंद लीं।

स्टेडियम भी बिगाड़ सकता है किसी की सेहत

क्या खेल का मैदान, सरकारी स्टेडियम बना सकता है किसी को बीमार। जी हां स्मार्ट होती काशी का स्टेडियम पूनम को बीमार डाल गया। जानकार क्या अब तो हर किसी को पता है कि डेंगू के मच्छर हमेशा साफ पानी में ही पनपते हैं। और इस स्टेडियम में हैं ऐसे मच्छर तभी तो पूनम वहां बीमार पड़ीं। वह तो कटक जाने वाली लड़कियों के ट्रायल के लिए आई थीं। उन्हें क्या पता कि स्टेडियम में डेंगू का मच्छर है जो उनकी जीवन लीला को समाप्त कर देगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???