Patrika Hindi News

> > > > DM varanasi transferred halted, SHO suspended

UP Election 2017

BREAKING NEWS वाराणसी के डीएम का तबादला रूका, थानेदार नपा

Updated: IST varanasi stampede
भगदड़ से हुई मौत के मामले में एसएसपी समेत अब तक नौ लोगों के खिलाफ हो चुकी कार्रवाई

वाराणसी. जय गुरुदेव के सत्संग समारोह समागम के दौरान बीते पंद्रह अक्टूबर को निकली शोभायात्रा में भगदड़ से हुई मौत के मामले में वाराणसी जिला प्रशासन के लिए राहत की खबर है। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार जिले में तैनाती के कम समय में ही जनता के बीच अपनी पैठ बना चुके जिलाधिकारी विजय किरण आनंद का तबादला रूक गया है। चुनाव आयोग ने उनके तबादले पर मुहर नहीं लगाई है। गौरतलब है कि शासन ने भगदड़ के मामले में डीएम के तबादले की मांग करते हुए चुनाव आयोग को तीन आइएएस की लिस्ट भेजी थी। माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव की तैयारियों के अंतिम चरण में होने के कारण चुनाव आयोग ने उनके तबादले पर मुहर नहीं लगाई है। गौरतलब है कि सोमवार को डीएम विजय किरण आनंद के तबादले के फैसले के खिलाफ कुछ समाजसेवी संगठनों ने प्रदर्शन किया था। सोशल मीडिया पर भी मैसेज के जरिए बताने की कोशिश की जा रही थी कि वर्तमान डीएम विजय किरण आनंद बनारस के लिए उपयुक्त डीएम हैं और इस समय उनकी कार्यशैली के चलते सरकारी कार्यालयों में कामकाज सही तरीके से हो रहा है।

उधर वाराणसी में मची भगदड़ के मामले में आज नौवीं कार्रवाई आदमपुर थानेदार विनय प्रकाश पर हुई। आदमपुर थाना प्रमुख विनय प्रकाश को डीआईजी संजीव गुप्ता ने सस्पेंड कर दिया है। उनपर आरोप है कि राजघाट पुल के वाराणसी के तरफ के प्रवेश द्वार की तरफ मौजूद थानेदार ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठियां चटकाई थी। हालांकि डीआइजी की कार्रवाई को लेकर तरह-तरह के सवाल भी उठने लगे हैं। महकमे में चल रही चर्चाओं की माने तो पुलिस अधिकारी मामले के लिए डीआईजी को भी दोषी मान रहे हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जब डीआईजी को पता था कि एसएसपी अवकाश पर है और जय गुरुदेव के सत्संग समारोह समागम स्थल वाराणसी और चंदौली दोनों जिले की सीमाक्षेत्र में आता है, तब भी रेंज के प्रमुख होने के नाते उन्होंने ठोस कदम नहीं उठाए। फिलहाल आदमपुर थानाध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई के बाद अब ट्रैफिक व स्वास्थ्य विभाग के दोषी अन्य अधिकारियों पर भी कार्रवाई की मांग उठने लगी है।

गौरतलब है कि वाराणसी में भगदड़ के मामले में निवर्तमान एसएसपी आकाश कुलहरि, चर्चित एसपी सिटी सुधाकर यादव, एडीएम सिटी विंध्यवासिनी राय, एसपी ट्रैफिक कमल किशोर समेत नौ लोग अब तक नप चुके हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???