Patrika Hindi News
UP Election 2017

काशी विद्यापीठ छात्रसंघ से हटा सपा का झंडा 

Updated: IST Mahatma Gandhi Kashi Vidyapith
सपा का झंडा चंद्रशेखर आजादी की प्रतिमा के छत्र पर लगने से छात्रों में था रोष, परिसर सहित सोशल मीडिया पर जताया था विरोध

वाराणसी. महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ छात्रसंघ भवन में चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा के छत्र पर लगा समाजवादी पार्टी का झंडा बुधवार को हटा लिया गया। बता दें कि काशी विद्यापीठ छात्रसंघ भवन स्थित चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा के ऊपर मंगलवार को समाजवादी पार्टी का झंडा लगा दिया था। क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा के छत्र पर सपा का झंडा लगने के बाद विश्वविद्यालय परिसर में एबीवीपी कार्यकर्ताओं व छात्रों का विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था। छात्रों के विरोध को देखते हुए बुधवार को छात्रसंघ भवन से सपा का झंडा हटा दिया गया।
चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा के छत्र पर सपा का झंडा लगाने का विरोध छात्रों ने परिसर के साथ ही सोशल साईट पर भी शुरू कर दिया था। छात्रसंघ भवन से सपा का झंडा हटने के बाद विरोध कर रहे एबीवीपी कार्यकर्ताओं व छात्रों में खुशी का महौल है। एबीवीपी महानगर मीडिया संयाजक दिनेश दीक्षित ने कहा कि विद्यापीठ के सभी छात्र नेता (सपा के भी कुछ) ने सपाइयों के इस कृत्य की घोर निन्दा की। दिनेश दीक्षित ने बताया कि इसी क्रम में एबीवीपी ने बुधवार को 12 बजे छात्रसंघ भवन से समाजवादी झंडा उतारने के लिए सभी आम छात्रों से अपील किया था। इस बात की भनक लगते ही सपा के लोगों ने खुद से ही झंडा हटा लिया। दिनेश दीक्षित ने कहा कि सपा का झंडा हटना विद्यापीठ के छात्र-छात्राओं की जीत है। कहा कि विद्यार्थी दलगत राजनीति से उपर उठ कर राजनिती करते है, परन्तु कुछ लोग छात्रसंघ को राजनीति का अड्डा बनाने का जो प्रयास कर रहे उसे छात्र बर्दाश्त नही करेंगे और उनका मुखर विरोध करेंगे। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व मंगलवार की शाम में ही छात्रसंघ महामंत्री समीर मिश्र ने फोन के माध्यम से विद्यापीठ के चीफ प्राक्टर प्रो. योगेंद्र सिंह को पूरे प्रकरण से अवगत कराया था। दिनेश दीक्षित ने आंदोलन को सफल बनाने के लिए सभी छात्र-छात्राओं का आभार व्यक्त किया।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???