Patrika Hindi News
UP Election 2017

मायावती के बाहुबली मोख्तार अंसारी को मिली पेरोल, बेटे ने कहा शुक्रिया

Updated: IST Mukhtar Ansari
मोख्तार अंसारी को पुलिस 17 फरवरी से चार मार्च तक पेरोल मिला। पुलिस कस्टडी में मऊ में रहेंगे।

वाराणसी. बाहुबली मोख्तार अंसारी का पेरोल सीबीआई कोर्ट ने मंजूर कर लिया है। 17 फरवरी से चार मार्च तक उनका पेरोल मंजूर किया गया है। हालांकि अभी कानूनी औपचारिकता बाकी है, पर कहा जा रहा है कि दो-तीन दिन में वह जेल से बाहर आ सकते हैं। घोसी विधानसभा सीट के प्रत्याशी उनके बेटे अब्बास अंसारी ने यह जानकारी दी। उनके पेरोल से समर्थकों में खुशी है। बताया गया है कि यह पेरोल सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने दिया है।

बेटे अब्बास अंसारी ने पत्रिका को बताया कि उन्हें यह पेरोल सीबीआई की स्पेशल कोर्ट से मिला है। अभी यह पेरोल का आदेश शासन को जाएगा। शासन इस पर अपनी संस्तुति देगा। इसके बाद पेरोल के हिसाब से उन्हें मऊ में ही पुलिस कस्टडी में रखा जाएगा। मऊ में मोख्तार और वहां की स्थानीय राजनीति को जानने वालों की मानें तो मोख्तार के जिले में रहने से उनके चुनाव को बल मिल सकता है। यह सच भी है कि विधायकी का चुनाव छोड़कर कभी ऐसा नहीं हुआ कि मोख्तार अंसारी ने जेल में रहकर लोकसभा का चुनाव जीत सके हों।

बहुजन समाज पार्टी ने अंसारी बंधुओं की पार्टी कौमी एकता दल का विलय कर उन्हें मऊ से, बेटे अब्बास अंसारी को घोसी से और बड़े भाई सिब्गतुल्लाह अंसारी को गाजीपुर की मोहम्मदाबाद सीट से टिकट दिया है। उधर मोख्तार के पेरोल की खबर से विरोधियों ने अपनी रणनीति पर विचार करना शुरू कर दिया है, ऐसा कहा जा रहा है। इसके पहले मोख्तार अंसारी को लोकसभा चुनाव में भी पेरोल मिला था। बताया गया है कि इसी आधार पर इस बार भी आदेश हुआ है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???