Patrika Hindi News

> > > > Train and flight schedule disturbed the reason of fog

UP Election 2017

कोहरे की मार से सब बेहाल, रद्द होने लगी ट्रेन व प्लाइट

Updated: IST fog
कोहरे की चादर में छिपी भगवान भास्कर की किरणें, जानिए कब ठीक होगा मौसम

वाराणसी. तीन दिन से जारी कोहरे की मार ने लोगों को बेहाल कर दिया है। ठंड में बढ़ोतरी होने के साथ आम लोगों का जनजीवन भी प्रभावित हो गया है। कोहरे की सबसे अधिक मार ट्रेनों व एयरलाइंस पर पड़ रही है। कुछ ट्रेने विलंबित चल रही है तो कुछ ट्रेनों को निरस्त करना पड़ा है। बाबतपुर हवाई अड्डे पर कोहरे के चलते उड़ानों का निरस्त होने का क्रम जारी है।
कोहरे के चलते दो दिन से भगवान भास्कर के दर्शन तक नहीं हुए है। धुंध की चादर में भगवान भास्कर की किरणे छुप जा रही है। इसके चलते कोहरे का असर तेज हो रहा है। दिन में कोहरे का असर कुछ कम है लेकिन शाम ढलते ही कोहरे की ताकत दिखने लगती है। शहरी क्षेत्र में देर रात में कोहरे का अधिक असर समझ में आता है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों की कहानी बिल्कुल अलग है। यहां पर कोहरे के चलते कुछ फुट दूर देखना भी कठिन हो जाता है। कोहरे की इसी स्थिति से समझा जा सकता है कि इन जगहों पर बिछे हुए ट्रैक पर ट्रेन चलाना कितना कठिन होता है। इसके चलते ट्रेन लेट होने के साथ विलंबित भी हो रही है।

चार दर्जन से अधिक ट्रेनों का बिगड़ा टाइम टेबल
कोहरे के चलते चार दर्जन से अधिक ट्रेनों का टाइम टेबल बिगड़ गया है। जम्मूतवी से नई दिल्ली की तरफ जाने व आने वाली ट्रेनों पर कोहरे का सबसे अधिक प्रभाव पड़ा है। विभूति एक्सप्रेस, अमृतसर हावड़ा, श्रमजीवी, बेगमपुरा, जनता एक्सप्रेस, बरेली एक्सप्रेस आदि ट्रेन अपने समय से लेट में चल रही है। रात में ट्रेनों के लेट होने का जो सिलसिला शुरू हो जाता है वह अगले दिन तक जारी रहता है।

उडऩों पर भी पड़ रहा प्रभाव
ट्रेनों से अधिक हवाई जहाज की उड़ानों पर कोहरे का सबसे अधिक प्रभाव पड़ रहा है। कोहरा इतना घना है कि एक उडऩा निरस्त हो जाने के बाद यात्रियों को भेजने के लिए दूसरी उड़ान का बंदोबस्त करना भी संभव नहीं होता है। दिल्ली से बनारस, बनारस से दिल्ली, मुम्बई से बनारस, बनारस से हैदरबाद की विभिन्न एयरलाइंस कंपनियों की कुछ उड़ानों को निरस्त करना पड़ गया था। कोहरे का असर भी खत्म नहीं हुआ है इसलिए नयी उड़ानों पर भी इनका प्रभाव पड़ सकता है।

तापमान में हो रही गिरावट
कोहरे के चलते न्यूनतम तापमान में गिरावट आयी है। एक ही दिन में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस गिर कर 14 डिग्री पर पहुंच गया है। न्यूनतम तापमान में गिरावट का दौर जारी रहने की संभावना है।

क्या कहते हैं मौसम वैज्ञानिक
बीएचयू के मौसम वैज्ञानिक प्रो.एसएन पाण्डेय ने कहा कि अभी दो से तीन दिन तक कोहरे से निजात मिलना संभव नहीं है। अभी पूर्वा हवा सतह पर है जिससे कोहरा छा रहा है। जब पछुवा हवा अपनी ताकत दिखायेगी तो मौसम साफ हो जायेगा, लेकिन ठंड में इजाफा होना संभव है। मौसम का यही हाल दो से तीन दिन बने रहने की संभावना है। इसके बाद ही लोगों को दिन में खिली धूप का आनंद लेने का मौका मिल पायेगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???