Patrika Hindi News

> > > > Varanasi mayor showed displeasure to IL&FS on negligence

UP Election 2017

जनता को नहीं हुआ संतोष तो होगी कार्रवाई

Updated: IST Naga nigam
मेयर ने दिया 15 दिसंबर तक समय, सफाई कर स्वच्छ काशी ऐप पर अपलोड करें फोटो

वाराणसी. महापौर रामगोपाल मोहले ने काशी के घाटों व वार्डों की सफाई व्यवस्था पर नाराजगी व्यक्त की है। महापौर ने कार्यदायी संस्था आईएल एंड एफएस को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि 15 दिसंबर तक शहर की जनता को संतोषजनक सुधार नजर नहीं आया तो कार्रवाई होना तय है। उन्होंने कहा कि सुधार न होने पर नगर निगम अपने निर्णय पर एक बार फिर विचार करेगा। बता दें कि काशी के घाट व 14 वार्ड की सफाई व्यवस्था और डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन की जिम्मेदारी आईएल एंड एफएस की है।

काशी की घाटों व वार्डों में सफाई व्यवस्था को लेकर मिल रही शिकायत पर महापौर आईएल एंड एफएस के अधिकारियेां के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में महापौर ने संस्था के गैर जिम्मेदाराना रवैये और असंतोषजनक कार्यों पर गहरी नाराजगी व्यक्त किया और 15 दिसंबर तक सफाई व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त करने का निर्देश दिया। मेयर ने कहा कि घाटों के लगभग 25 ऐसे स्थान चिन्हित किए गए हैं, जहां गन्दगी, मलबा व सिल्ट है और इसी प्रकार 14 वार्डों में 50 ऐसे स्थल चिन्हित किए गए हैं। मेयर ने उक्त स्थानों की सफाई कराके उसकी फोटोग्राफ स्वच्छ काशी ऐप पर अपलोड करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि 15 दिसंबर के बाद उक्त स्थलों का निरीक्षण किया जायेगा और उसी के आधार पर संस्था के संबध में निर्णय लिया जायेगा।

इस दौरान मेयर ने आईएल एंड एफएस का रात्रिकालीन सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित कराने और अपने कर्मचारियों की उपस्थिति दर्ज कराने के लिए बायोमेट्रीक सिस्टम लागू करने का निर्देश दिया। साथ ही मेयर ने नगर निगम के सम्बंधित अधिकारियों को घाटों और वार्डों में हो रहे सफाई कार्यों की मॉनीटरिंग करने को कहा। उन्होंने कहा कि जब तक जनता सफाई व्यवस्था पर संतोष व्यक्त न करें तब तक इन सेवाओं का कोई मतलब नहीं है।

पार्षदों ने अनुबंध रद्द करने की थी मांग
पिछले दिनों नगर निगम सदन की बैठक में आईएंडएफएस के असंतोषजनक सफाई कार्यों को लेकर पार्षदां ने संस्था प्रति जबरदस्त रोष व्यक्त करते हुए संस्था के अनुबंध को रद्द करने की मांग की थी। पार्षदों ने कहा था कि संस्था 14 वार्डों में न तो ठीक से सफाई कार्य किया जा रहा है और न ही डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन का काम किया जा रहा है और यही हाल काशी के घाटों का भी यही हाल है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???