Patrika Hindi News

रिसर्च के लिए जुनून जरूरी

Updated: IST Sattiai, Department of Mechanical Engineering,
विदिशा. एसएटीआई के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग में 'इनोवेटिव रिसर्च इन इंजीनियरिंग एंड साइंसÓ विषय पर एक दिनी नेशनल कान्फें्रस हुई।

विदिशा. एसएटीआई के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग में 'इनोवेटिव रिसर्च इन इंजीनियरिंग एंड साइंसÓ विषय पर एक दिनी नेशनल कान्फें्रस हुई।

मुख्य वक्ता आईआईटी कानपुर के पूर्व प्राध्यापक डॉ. वीके जैन ने कहा कि किसी भी अनुसंधान के लिए अवलोकन, कार्य के प्रति ईमानदारी, कड़ी मेहनत और पागलपन की हद तक जुनून होना आवश्यक है। उन्होंने महान वैज्ञानिक न्यूटन और सीवी रमन का जिक्र करते हुए बताया कि कैसे उन्होंने छोटी-छोटी चीजों का अवलोकन कर उस पर कार्य किया और विश्व को महान थ्योरी दीं। स्वागत भाषण डायरेक्टर डॉ. जेएस चौहान ने दिया। इस दौरान देश के 41 शोधार्थियों ने शोध पत्र पढ़े। विभागाध्यक्ष डॉ. पंकज अग्रवाल ने आभार माना।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???