Patrika Hindi News

धूल उडऩे से दुकानदार हो रहे परेशान

Updated: IST vidisha
बाइपास पर बनी दुकानों पर हर महीने हजारों रुपए का सामान धूल के कारण खराब हो रहा है

गंजबासौदा. शहर में आने वाले भारी वाहनों को बाइपास से ही निकाला जा रहा है। जबकि इन बाइपासों में गहरे गहरे गड्ढे बने हुए हैं। पीडब्लूडी विभाग रखरखाव के नाम पर सड़कों पर बने इन गड्ढों को मिट्टी और के्रशर की धूल से ढंक देता है। जब वाहन रोड से गुजरते हैं तो धूल उड़कर सड़क के किनारे रह रहे नागरिकों के घरों और दुकानों में भर जाता है। बाइपास पर बनी दुकानों पर हर महीने हजारों रुपए का सामान धूल के कारण खराब हो रहा है।

शहर में आने के लिए वाहनों को तिरंगा चौक से होकर बरेठ रोड आना पड़ता है या फिर राजेन्द्र नगर से पचमा रोड होते हुए त्योंदा रोड पहुंचना पड़ता है। इन दोनों ही सड़कों की हालत खराब है। भारी वाहन और टै्रक्टर ट्राली जब इन सड़कों से गुजरते हैं तो धूल के गुव्वार से निवासियों को और छोटे वाहन चालकों को चलना मुश्किल हो जाता है। बाइपास निवासी राजेश जैन ने बताया कि निकलने वाले वाहनों से इतनी धूल उड़ती है कि अगर घर के कपड़े धूप में सुखाने डाले जाते हैं तो उनको भी दुबारा धोने की नोबत आ जाती है। बच्चे भी धूल के कारण खांसी, श्वांस, एलर्जी, आंखों में जलन जैसी बीमारियों से परेशान हैं। डाक्टरों से सलाह लेने पर बच्चों को धूल से बचने के लिए कहा जाता है लेकिन सड़क की बिगड़ी हालत के चलते रहना दूभर होता जा रहा है। टै्रक्टर व्यवसायी आदेश जैन ने बताया कि शोरूम में कांच लगे होने के बाद भी वाहनों के निकलने से उडऩे वाली धूल टै्रक्टरों और स्पेयर्स पाटर्सो पर जम जाती है जिन्हें खरीदने आए ग्राहक पुराना मानकर सामान नहीं खरीदते। बाइपास के नागरिक प्रशासन तक सड़क पर उड़ रही धूल की परेशानी को लेकर ज्ञापन दे चुके हैं लेकिन ज्ञापन प्रशासन तक ही रह जाता है। विभाग सड़क के स्थायी सुधार को लेकर कोई व्यवस्था नहीं करता। जब भी पीडब्लूडी के अधिकारियों से संपर्क किया जाता है तो एक ही जबाव मिलता है प्रस्ताव भेजा है। मंजूरी आने पर सड़क का सुधार किया जाएगा। नागरिकों को विभाग की मंजूरी का इंतजार है लेकिन वर्तमान में इन बाइपास मार्गों पर रहना मुश्किल हो रहा है। धूल के कारण व्यापारियों का हजारों रुपए का सामान हर माह खराब होता है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???