Patrika Hindi News

> > Uri attack: Around diplomatic world in 12 hours

उरी अटैक के 12 घंटे के बीच भारत ने खटखटकाया दुनिया का दरवाजा

Updated: IST uri attack, centre diplomatic contact with promin
उरी में आतंकी हमले को लेकर छह दिनों दुनिया भर में बहस जारी है, लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि घटना के 12 घंटे के अंदर भारत सरकार ने डिप्लोमैटिक स्तर पर कितने अहम प्रयास किए।

नई दिल्ली. भारत ने उरी घटना के 12 घंटे के अंदर सभी दक्षिण एशियाई देशों सहित विश्व के प्रमुख 15 राष्ट्रों से संपर्क कर अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी थी, जिसकी भनक बहुत कम लोगों को लगी। यह कदम नई दिल्ली ने डिप्लेमैटिक योजना के तहत उठाया था ताकि पाकिस्तान की असलियत को दुनिया के समक्ष उसी रूप में तत्काल उजागर करना संभव हो सके।

पाक को किया बेनकाब
इसका मकसद लाइन ऑफ कंट्रोल पर पाक की नाजायज हरकतों को घटनाक्रम के सुबूतों के आधार पर दुनिया को इत्तला करना और उसे बेनकाब करना था। ताकि यूएन महासभा के मंच पर पूरी दुनिया समझ सके कि पाकिस्तान वास्तव में एक आतंकी राष्ट्र है।

15 प्रमुख राष्ट्रों से साधा संपर्क
इसके पीछे भारत की रणनीति यह थी कि पाकिस्तान को दुनिया के समक्ष आतंकवादी राष्ट्र के रूप में स्थापित किया जाए। इतना ही नहीं उसके परमाणु हथियारों को सख्त पाबंदियों के दायरे में लाने के लिए दुनिया भर में माहौल तैयार किया जाए। इसके लिए भारत ने सभी दक्षिण एशियाई राष्ट्रों सहित पी-5 और खाड़ी के सऊदी अरब और यूनाइटेड अरब अमीरात से भी संपर्क किया था। भारतीय राजदूतों ने उन सभी देशों के राजदूतों से संपर्क साधा। नई दिल्ली में उनके राजदूतों को बुलाकर सही स्थिति से अवगत कराया गया।

पूंछ और उरी हमले में के बीच संबंध एक जैसा
भारत सरकार ने इस बात को तथ्यों के आधार पर सभी देशों के समक्ष रखा कि कि पूंछ और उरी आतंकी हमले में कौन-कौन सी बातें एक समान हैं। दोनों ही आतंकी हमले में पाक के आंतकियों ने एक समान समान हथियार, समान
संचार तंत्र, सेम जीपीएस डिवाइसेंज, सेम कम्युनिकेश शीट्स आदि का इस्तेमाल किया। यहां तक कि खाने पीने की चीजें भी एक जैसी ही थी।

बहादुर अली की बातों का किया खुलासा
भारत सरकार ने 25 जुलाई को घुसपैट के दौरान गिरफ्तार लश्कर ए तैयबा आतंकी बहादुर अली के बयानों, बाचतीत के टेप और उसकी सूचना पर 26 जुलाई को चार आतंकियों को मार गिराने की घटनाओं को भी विश्व बिरादरी के समक्ष रखा। अली ने उर्दू में पाकिस्तान हाईकमिशन को एक पत्र भी लिखा जिसमें जिसमें उसने नाम, पता और परिवार के बारे में सभी जानकारी देते हुए पािकस्तान हाईकमिशन से अनुरोध किया था कि किसी तरह परिवार के लोगों से संपर्क कराएं, लेकिन पाक हाईकमिशन ने अपने हाथ फंसते देख ऐसा करने से इन्कार कर दिया।

बुरहान वानी टर्निंग प्वाइंट
भारत के लिए हिजबुल मुजाहिद्दीन आतंकी बुरहान वानी की हत्या टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ, क्योंकि भारत ने साबित किया कि किस तरह से कश्मीर घाटी में आतंकी बुरहान वानी की हत्या के बाद एक के बाद एक नौ आतंकी हमले हुए। साथ ही कश्मीर घाटी में पाकिस्तान ने हिंसा को बढ़ावा दिया। भारत ने ये बातें भी बताईं कि वर्ष 2016 में 17 आतंकी घटनाओं में 31 आतंकियों को मार गिराया गया।

पाक को बताया आतंकी राष्ट्र
यूएन में अपने भाषण के दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 26 सितंबर को पहली बार पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र बताया। उन्होंने ये भी कहा कि इस मुद्दे पर चीन को छोड़कर अन्य देशों की प्रतिक्रिया से भारत संतुष्ट है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे