कांगो: दो दिन में हुई थी 890 मौत, अब बरामद हुई 50 सामूहिक कब्रें

कांगो: दो दिन में हुई थी 890 मौत, अब बरामद हुई 50 सामूहिक कब्रें

Shweta Singh | Publish: Jan, 28 2019 01:25:02 PM (IST) अफ्रीका

शनिवार को संयुक्त राष्ट्र के एक मानवाधिकार समूह की ओर से इस बारे में जानकारी दी गई।

किन्शासा। पश्चिमी डीआर कांगो में बीते काफी समय से हिंसा की खबरें आ रही हैं। अब इसी बीच एक और चौंकाने वाली खबर सामने आई है। दरअसल वहां 50 से अधिक सामूहिक कब्रों के बारे में खुलासा हुआ है। शनिवार को संयुक्त राष्ट्र के एक मानवाधिकार समूह की ओर से इस बारे में जानकारी दी गई।

50 से अधिक सामूहिक कब्रों का खुलासा

मीडिया रिपोर्ट्स में डीआरसी में तैनात यूएन ह्यूमन राइट जॉइंट ऑफिस (यूएनजेएचआरओ) के निदेशक अब्दुल अजीज थियोये के हवाले से जानकारी दी जा रही है कि 50 से अधिक सामूहिक कब्रों का पता लगा है। ये कब्रें पश्चिमी मे-दोमबे प्रांत के युम्बी में पाई गई हैं। निदेशक ने ये भी कहा कि पहचान की गई कब्रों में से कुछ संयुक्त और कुछ निजी कब्रों शामिल हैं। बताया जा रहा है कि कांगो के स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर एक संयुक्त तथ्यान्वेषी मिशन (जॉइंट फैक्ट फाइनडिंग मिशन) चलाया गया है।

दो दिनों के अंदर ही 890 लोगों की हुई थी मौत

इससे पहले 17 जनवरी को भी संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई थी कि इस क्षेत्र में सामुदायिक हिंसा के चलते एक महीने के अंदर ही करीब 890 लोगों की जान जा चुकी है। आपको बता दें कि पिछले साल माई-डोंबे प्रांत के युम्बी के चार गांवों में बनुनू और बाटेंडे समुदायों के बीच संघर्ष हुई थे। संरा मानवाधिकार कार्यालय के मुताबिक इससे हुई हिंसा में महज दो दिनों के भीतर ही (16 से 18 दिसंबर 2018 के बीच) 890 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। इसके अलावा हिंसा से बचने के लिए एक बड़ी तादाद में लोगों को पलायन भी करना पड़ा। बता दें कि उस वक्त हिंसा इतनी अधिक बढ़ गई थी कि राष्ट्रपति पद का चुनाव भी टालना पड़ा था।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned