मिस्त्र: अदालत ने बरकार रखी 7 आरोपियों की मौत की सजा, पुलिसवाले की हत्या का था आरोप

मिस्त्र: अदालत ने बरकार रखी 7 आरोपियों की मौत की सजा, पुलिसवाले की हत्या का था आरोप

Shweta Singh | Publish: Nov, 12 2018 02:41:46 PM (IST) अफ्रीका

ये मामला वर्ष 2013 का है।

काहिरा। मिस्त्र की एक शीर्ष अदालत ने एक पुलिसकर्मी की मौत के मामले में सजा सुनाई है। रविवार को इस मामले की सुनवाई में अदालत ने हत्याकंड के सात अभियुक्तों को दी गई मृत्युदंड की सजा को बरकार रखा है। बता दें कि ये मामला वर्ष 2013 का है।

हत्या करने और उसका बंदूक छीनने के लिए मृत्युदंड

मीडिया रिपोर्ट की माने तो, कोर्ट ऑफ कैसेशन ने राजधानी काहिरा के पूर्वोत्तर में स्थित इस्मालिया आपराधिक अदालत द्वारा दिए गए मृत्युदंड के पिछले फैसले को बरकरार रखा है। बता दें कि इससे पहले आपराधिक अदालत ने आरोपियों को पुलिसकर्मी की हत्या करने और उसका बंदूक छीनने के लिए मृत्युदंड की सजा सुनाई थी। बता दें कि इन अभियुक्तों ने 2013 के अंत में गश्त के दौरान पुलिसकर्मी अहमद रादवान अबु-डोमा पर हमला कर दिया था, जिसमें उनकी मौत हुई थी।

अंतिम फैसला, नहीं की जा सकेगी अपील

आपको बता दें कि रविवार को दिया गया फैसला अंतिम फैसला है। इस सजा के खिलाफ अपील नहीं की जा सकेगी क्योंकि शीर्ष अदालत ने पहले ही मुलजिमों की अपील को खारिज कर दिया है। वहीं इसी मामले में दो अन्य मुलजिमों को भगोड़ों को शरण देने के लिए दो और तीन साल जेल की सजा सुनाई गई है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned