कांगो में तैनात भारतीय जवानों पर हमला, जवाबी हमले में दो विद्रोही ढेर

shachindra shrivastava

Publish: Oct, 09 2017 06:35:21 (IST)

Africa
कांगो में तैनात भारतीय जवानों पर हमला, जवाबी हमले में दो विद्रोही ढेर

जानकारी के मुताबिक, भारतीय सेना के जवानों की चौकी पर विद्रोहियों ने 6 अक्टूबर को हमला किया था।

नई दिल्ली। कांगो में तैनात भारतीय सेना के जवानों पर विद्रोहियों के हमले की खबर है। जानकारी के मुताबिक भारतीय सेना के जवानों ने इस हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया और विद्रोहियों की कोशिश को नाकाम कर दिया है। भारतीय जवानों के जवाबी हमले में दो विद्रोही मारे गए हैं। ये भारतीय जवान संयुक्त राष्ट्र मिशन के तहत कांगो में तैनात हैं। 2008 में डेमोक्रेटिक रिपब्लिक आॅफ कांगों के संकटग्रस्त इलाकों में विद्रोहियों की ओर से लड़ाई छेड़ी गई थी। इसके बाद वहां संयुक्त राष्ट्र ने सैन्य सहायता भेजी थी।

लगातार हो रहे हैं हमले
भारतीय सेना के के अधिकारियों के मुताबिक 6 अक्टूबर को हथियारबंद "मे-मे" विद्रोहियों ने भारतीय सेना की लुबेरो चौकी पर हमला किया था। यह चौकी उत्री किवु के मुख्य शहर गोमा से उत्तर में 300 किलोमीटर दूर स्थित है। खबर के मुताबिक, 2017 की शुरुआत से ही विद्रोही उत्तरी और दक्षिणी किवु में लगातार सेना की चौकियों पर हमला कर रहे हैं। 6 अक्टूबर को भारतीय सेना की टुकड़ी ने उनके हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया। जवाबी हमले में भारतीय जवानों ने दो विद्रोहियों को मार गिराया और दो अन्य घायल हो गए। इस कार्रवाई में भारतीय सेना के दो जवानों को भी चोट पहुंची है।

22 बच्चों को बचाया था भारतीय जवानों ने
कांगो में संयुक्त राष्ट्र ने नागरिकों की सुरक्षा के लिए सेना की तैनाती की है। पिछले महीने भारतीय सेना ने 22 बच्चों को विद्रोहियों के चंगुल से छुड़ाया था। विद्रोहियों ने इन बच्चों को बाल सैनिक बनाने के लिए बंधक बनाया था और उन्हें हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी जा रही थी। भारतीय सेना ने 16 सितंबर को यह कार्रवाई की। सेना को स्थानीय ग्रामीणों से इस बारे में जानकारी मिली थी। ग्रामीणों ने बताया था कि बच्चों को विद्रोही अपने गुट में शामिल करना चाहते हैं। विद्रोहियों से छुड़ाने के बाद इन बच्चों को संयुक्त राष्ट्र की बाल सुरक्षा एजेंसी के सुपुर्द कर दिया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned