आतंकियों ने किया सेना के आधार शिविर पर हमला, 100 नाइजीरियाई सैनिकों की मौत

आतंकियों ने किया सेना के आधार शिविर पर हमला, 100 नाइजीरियाई सैनिकों की मौत

Siddharth Priyadarshi | Publish: Nov, 23 2018 12:04:56 PM (IST) | Updated: Nov, 23 2018 01:44:13 PM (IST) अफ्रीका

रविवार से शुरू हुए इस हमले में आतंकवादियों ने सेना के आधार शिविर को निशाना बनाया है

मैडुगुरी। अफ्रीकी देश नाइजीरिया में आतंकवादियों के हमले में 100 सैनिकों की मौत हो गई है। रविवार से शुरू हुए इस हमले में आतंकवादियों ने सेना के आधार शिविर को निशाना बनाया है। इस हमले में लगभग 100 नाइजीरियाई सैनिकों की मौत हो गई है। सुरक्षा सूत्रों ने गुरुवार को इस घटना की जानकारी देते हुए पश्चिम अफ्रीका इस्लामिक स्टेट को इस घटना का दोषी ठहराया है।

मारे गए नाइजीरियाई सैनिक

2015 में राष्ट्रपति मोहम्मद बुहारी के सत्ता में आने के बाद से नाइजीरिया में यह आतंकियों का यह सबसे बड़ा हमला है। माना जा रहा है कि इससे उन पर फरवरी में होने वाले चुनाव से पहले दबाव बढ़ सकता है। इससे पहले राष्ट्रपति ने देश में कम से कम नौ साल से चल रहे विद्रोह पर जीत का दावा किया था। ताजा हमले में विद्रोहियों ने पूर्वोत्तर बोर्नो राज्य में मेटेल गांव में आर्मी बेस पर हमला किया। कुछ समय पहले तक यह इलाका बोको हरम इस्लामी स्टेट समूह की गतिविधियों का केंद्र था। बताया जा रहा है कि ताजा हमले में विद्रोहियों ने बड़ा नुकसान करते हुए आधार शिविर को ब्लास्ट कर जला दिया। इसमें करीब 100 सैनिक मारे गए हैं। सूत्रों ने बताया है कि कई सैनिक अब भी गायब हैं।

बेस कैम्प से भागी सेना

नाइजीरिया सेना ने कहा है कि हमें अपने टैंक और हथियारों को छोड़ क्र भागना पड़ा। सेना के उस गांव से भागने के बाद गांव अभी आतंकियों के नियंत्रण में है। विपक्षी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) द्वारा नियंत्रित सीनेट ने गुरुवार को मेटल हमले के बाद 44 मृत सैनिकों के सम्मान में सत्र को निलंबित कर दिया था। उधर विपक्षी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार अतीक अबुबाकर, जो बुहारी के मुख्य प्रतिद्वंद्वी हैं, ने मृत सैनिकों के परिवारों से मुलाकात की। बता दें कि हाल के महीनों में आतंकवादियों ने इस क्षेत्र में सैकड़ों सैनिकों की हत्या कर दी है।

Ad Block is Banned