सोमालिया में आत्मघाती हमला, 7 की मौत, कई लोग घायल

सोमालिया में आत्मघाती हमला, 7 की मौत, कई लोग घायल

Mangala Prasad Yadav | Publish: Sep, 02 2018 05:30:08 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 08:45:03 PM (IST) अफ्रीका

आतंकवादियों ने एक सरकारी दफ्तर में आत्मघाती हमला कर सात लोगों की जान ले ली।

मोगादिशूः सोमालिया के मोगादिशू में रविवार को एक आत्मघाती कार सवार हमलावर द्वारा किए गए विस्फोट में मरने वालों की संख्या सात पहुंच गई है। पुलिस ने इस बात की जानकारी दी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, घटना हॉवल्वडाग जिले में सुबह आठ बजे की है, जिसमें सात लोग घायल हो गए। साथ ही विस्फोट में नजदीकी मकानों को भी नुकसान हुआ, एक मस्जिद की छत नष्ट हो गई और पास का एक स्कूल ढह गया। पुलिस अधिकारी अब्दुल्लाही हुसैन ने कहा कि एक आत्मघाती हमलावर अपनी कार लेकर हॉवल्वडाग जिले में स्थित जिला कार्यालय में घुस गया और विस्फोट कर दिया। घटना को अंजाम देकर हमलावर फरार हो गया। फिलहाल इलाके में चारों तरफ घेराबंदी कर दी गई है।

इस आतंकी संगठन ने ली जिम्मेदारी

सोमालिया में सक्रिय आतंकी संगठन अल-शबाब ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। अल-शबाब की तरफ से कहा गया है कि मोगादिशू में हुए आत्मघाती हमले में उसका हाथ है और आगे भी इस तरह के हमले होते रहेंगे। बता दें कि यह आतंकी समूह पिछले 10 सालों से सोमालिया में सक्रिय है।अलकायदा समर्थित यह आतंकी संगठन अपनी क्रूरता के लिए जाना जाता है। अल-शबाब के आतंकी सैनिकों की हत्या करने के बाद उनका सिर धड़ से अलग कर देते हैं। सोमालिया का यह आतंकी संगठन अफ्रीका महाद्वीप के कई देशों में भी दहशत का पर्याय बन चुका है।

पहले भी कर चुका ऐसे हमले

मोगादिशू में राष्ट्रपति भवन के पास 14 जुलाई को इसी तरह के दो विस्फोटों में सात लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हुए थे। जून 2017 में इस आतंकी संगठन ने सोमालिया के एक सैन्य ठिकाने पर हमला कर दिया था। पुंटलैंड प्रांत में हुए हमले में कम से कम 70 लोगों की मौत हो गई थी। बताया जाता है कि इन आतंकियों ने मृतकों में कई लोगों के शवों को क्षत-विक्षत कर दिया था। बता दें कि सोमालिया पिछले कई दशकों से आतंकवाद का सामना कर रहा है। इस देश में अल-शबाब और इस्लामिक स्टेट आतंकी संगठनों ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है।

Ad Block is Banned