video : राजपूत करणी सेना व क्षत्रिय महासभा ने लहराए भगवा ध्वज, निकाला चल समारोह

महाराणा प्रताप जयंती पर अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा व राजपूत करणी सेना के तत्वावधान में भगवा ध्वज लहराए और चल समारोह निकाला।

By: Lalit Saxena

Published: 07 Jun 2018, 07:34 PM IST

आगर-मालवा. महाराणा प्रताप जयंती पर गुरुवार को अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा व राजपूत करणी सेना के तत्वावधान में भगवा ध्वज लहराए और चल समारोह निकाला। विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। सतपालसिंह हड़ाई ने बताया सुबह १० बजे गांधी उपवन से चल समारोह निकाला गया, जो शहर के प्रमुख मार्गों से होता हुआ वापस गांधी उपवन पहुंचा।

ये हुए शामिल
गांधी उपवन सामुदायिक भवन में आयोजित कार्यक्रम में ऊर्जा विकास निगम अध्यक्ष विजेंद्रसिंह सिसौदिया, खिलचीपुर विधायक प्रियवृतसिंह खींची, रामवीरसिंह सिकरवार, करणी सेना प्रदेशाध्यक्ष जीवनसिंह शेरपुर, वीरेंद्रसिंह गोहिल, योगेंद्रसिंह बंटी सहित समाज के वरिष्ठजनों की मौजूदगी रही। जिला कार्यकारी अध्यक्ष गोविंदसिंह सिसौदिया, जिलाध्यक्ष लोकेंद्रसिंह राठौड़, करणी सेना जिलाध्यक्ष शिवराजसिंह आदि व्यवस्थागत तैयारियों में जुटे रहे।

कम्प्यूटर बाबा पहुंचे मां के द्वार
नलखेड़ा. नगर में राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त संत कम्प्यूटर बाबा पहुंचे। वे यहां हिंदू क्रांति दल की चुनर यात्रा में शामिल हुए। यात्रा नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए मंदिर पहुंची। यहां माता को चुनर उड़ाई गई। यात्रा में सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे। बाबा ने माता के दर्शन पूजन किया। 2 से 3 घंटे नगर में रुके।

मैना में धूमधाम से कथा का विश्राम, निकली शोभायात्रा
सुसनेर. बुधवार को मैना में अभा चंद्रवंशी बागरी समाज द्वारा आयोजित चार दिनी पांडव प्रताप कथा का विश्राम हुआ। ग्राम में शोभायात्रा भी निकाली गई। उसके बाद धर्मसभा हुई। समाज जिलाध्यक्ष नारायणसिंह बोडाना द्वारा समाजजनों को संबोधित करते हुएं बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ का आह्वान किया।

किशनसिंह उन्हेल द्वारा युवाओं को क्षेत्र में प्रवेश संबंधी जानकारी दी गई। समाज के धर्मगुरु पंडित सुनील कर्मकार ने समाज में व्याप्त कुरीतियों व शराब, व्यसन, बलि प्रथा, घरेलू हिंसा, दहेज प्रथा आदि समाप्त करने की शपथ दिलाई। रामनारायण पवार, मोहनलाल सचिव, कैलाश परमार, जगदीश परमार, कालूराम लाइनमैन, संजय पवार, रामेश्वर ठेकेदार, लोको पायलट रतलाम घनश्याम चंद्रवंशी, रामगोपाल गुजराती, भगवानसिंह गुजराती, रामबाबू करलगांव, विष्णु पवार आदि मौजूद थे। संचालन रामबाबू शिक्षक कलरगांव ने किया। आभार कनीराम सचिव ने माना।

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned