मंडी प्रांगण में अव्यवस्था, रोज हो रहे विवाद

गेहूं, चना, मसूर, रायड़ा आदि की खरीदी मार्केटिंग द्वारा बड़ौद मंडी प्रांगण में की जा रही है

By: Lalit Saxena

Published: 06 May 2018, 08:03 AM IST

बड़ौद. समर्थन मूल्य व भावांतर योजना में गेहूं, चना, मसूर, रायड़ा आदि की खरीदी मार्केटिंग द्वारा बड़ौद मंडी प्रांगण में की जा रही है। इसके चलते सैकड़ों किसान ट्रैक्टर-ट्रॉली से उपज लेकर मंडी पहुंच रहे हैं। इसके अतिरिक्त मंडी में भी रोज व्यापारी द्वारा नीलामी के लिए भी बड़ी संख्या में किसान उपज लेकर आ रहे हैं, लेकिन व्यवस्था ठीक नहीं होने के कारण किसानों, व्यापारियों और अधिकारियों में विवाद की स्थिति बन जाती है। मंडी के दोनों ओर राष्ट्रीय मार्ग पर लंबी कतार वाहनों की लग जाती है, जिससे जाम की स्थिति भी बनती है। उपज की गुणवत्ता को लेकर किसान एवं अधिकारी के बीच रोज विवाद देखने को मिल रहा है। शुक्रवार को मामला हाथापाई एवं मारपीट तक पहुंच गया।
अभी तक बड़ौद तहसील के तीनों खरीदी केंद्र पर कुल 1 लाख 81 हजार 497 क्विंटल गेहूं खरीदा जा चुका है, जबकि गत वर्ष मात्र 1 लाख 65 हजार 151 क्विंटल गेहूं ही समर्थन मूल्य पर खरीदा गया था। अभी 10 दिन और शेष है, दूसरी ओर पिछले वर्ष की तुलना में क्षेत्र में गेहूं की पैदावार भी कम है, उसके बाद भी इतना अधिक गेहूं का खरीदा जाना भी शंका के घेरे में है। सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार राजस्थान से गेहूं एवं चना बड़ी मात्रा में बड़ौद क्षेत्र में समर्थन मूल्य पर बेचने का कार्य किया जा रहा है।
शिकायत पर जांच करेंगे
पंजीयन में तय मात्रा अनुसार ही गेहूं की खरीदी की जा रही है। अगर बाहर से गेहूं-चना आदि लाकर समर्थन मूल्य पर बेचा जा रहा है तो शिकायत मिलने पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
पीएल भरतुनिया, मंडी सचिव
नगर परिषद ही दे रही अतिक्रमण का मौका
घर के समाने 5-5 फीट छोड़कर शासकीय मार्ग के बीच में लगाए जा रहे बिजली के खंभे
बड़ौद. नगर में इन दिनों विद्युतीकरण का कार्य चल रहा है। मगर नप द्वारा कई स्थानों पर घरों से 5 से 6 फीट आगे पोल बीच सड़क पर लगाए गए हैं। इससे लोगों को यहां अतिक्रमण करने में सहूलियत होगी। विमलनाथ मंदिर मार्ग पर, सुभाष मार्ग, दाल मिल के सामने सहित अनेक स्थानों पर बीच रोड़ पर पोल लगाये गये हैं मगर नगर परिषद को यह सब दिखाई नहीं दे रहा है। मामले की नप सहित 181 हेल्पलाइन पर भी शिकायत लोगों ने की मगर अधिकारी खामोश हैं। दूसरी ओर नप ने करोड़ों रुपए खर्चकर डिवाइडर बनाया मगर पोल डिवाइडर के बीच लगाने के बजाय रोड के दोनों ओर बीच रोड पर लगाए जा रहे हैं।
&संबंधित ठेकेदार को सुभाष मार्ग पर कार्य रोकने का निर्देश दिया है। पोल डिवाइडर के बीच ही लगाएंगे।
अशफाक खान, सीएमओ बड़ौद

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned