अच्छे लोग शामिल होकर जनता को करें जागृत

Lalit Saxena

Publish: May, 18 2018 08:03:03 AM (IST)

Agar, Madhya Pradesh, India
अच्छे लोग शामिल होकर जनता को करें जागृत

अभिभाषक बोले- राजनीति में साफ छवि के लोगों को आगे बढ़ाने की जरूरत

आगर-मालवा. राजनीति दिन-प्रतिदिन गंदी होती जा रही है। इसका मुख्य कारण यही है कि अच्छे लोग राजनीति से किनारा कर रहे हैं। अब समय आ गया है कि देश की रीति-नीति तय करने वाली इस राजनीति को स्वच्छ किया जाए। यह कार्य कोई एक इंसान नहीं कर सकता है । इसमें सभी बुद्धीजीवी वर्ग को शामिल होना होगा। अच्छे और सकारात्मक सोच वाले लोग जब तक राजनीति में शामिल नहीं होंगे राजनीति ऐसे ही दूषित होती रहेगी।
आगर न्यायालय में गुरुवार को कार्यरत अभिभाषकगणों ने पत्रिका द्वारा चलाए जा रहे चेंज मेकर अभियान की बैठक के दौरान परिचर्चा में रखे। अभिभाषकगणों ने बताया कि राजनीति में धनबल और बाहुबल का इतना अधिक प्रभाव बढ़ चुका है ।
दो दशक पूर्व राजनीति में सिद्धांतवादी राजनेता हुआ करते थे जिनके लिए जनसेवा ही एकमात्र लक्ष्य हुआ करता था लेकिन धनबल और बाहुबल के चलते धीरे-धीरे सिद्धांतवादी राजनेता लुप्त होते गए। न्यायालय परिसर स्थित अभिभाषक संघ कार्यालय में यह परिचर्चा आयोजित हुई। संचालन जिला ब्यूरो दुर्गेश शर्मा ने किया व आभार प्रकाश किथोदिया ने माना।
जनता को मिले वापस बुलाने का अधिकार
अभिभाषकगणों ने परिचर्चा में एक महत्वपूर्णबिन्दु पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जनता द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधि को वापस बुलाने का अधिकार भी जनता को मिलना चाहिए जिसकी एक आसान और सरल प्रक्रिया हो। जनता अपने प्रतिनिधि के रूप में विधायक, सांसद को चुनती है लेकिन जीतने के बाद वहीं नेता जनता को भुल जाता है। आमजन की भावनाओं को ठेस पहुंचाने एवं कर्तव्यों का पालन सही नही करने पर ऐसे नेताओं को वापस बुलाने का अधिकार जनता को देना चाहिए।
एक जमाना था जब राजनीति में सिद्धांतवादी नेता हुआ करते थे लेकिन धीरे-धीरे अब सिद्धांतवादी राजनेता लुप्त हो गए। अवसरवादी राजनीति आरंभ हो गई। राजनीति में आमजन के हितों का कोई ध्यान नहीं रखा जा रहा है।
देवेन्द्रसिंह चौहान, पूर्व अभिभाषक संघ अध्यक्ष
यह सही है कि जब तक अच्छे लोग राजनीति में नही आएंगे राजनीति स्वच्छ नही होगी लेकिन अब कुछ परिवर्तन भी होना चाहिए विधायक-सासंद के लिए एक शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए साथ ही समय-समय पर आरक्षित सीट पर परिवर्तन भी होना चाहिए ।
राकेश मारू, अभिभाषक
वर्तमान राजनीति से अच्छे लोग किनारा करते जा रहे है जो की आने वाले समय में लोकतंत्र के लिए हानिकारक हो जाएगा। अच्छे लोगो को राजनीति में शामिल होना चाहिए।जनप्रतिनिधियों को उनके कार्यकाल के दौरान ही भत्ते वेतन दिए जाए।
शमीउल्ला कुरैशी, अभिभाषक
किसी जमाने में नेता आम लोगो की सेवा के उद्देश्य के साथ राजनीति में शामिल होते थे, लेकिन अब सेवा शब्द नगण्य हो चुका है । अब तो नेता अपने स्वार्थो की पूर्ति करने के लिए राजनीति में शामिल हो रहे है।
राजेश माथुर, वरिष्ठ अभिभाषक
हर व्यक्ति को राजनीति से जुड़कर रहना चाहिए और अपने जनप्रतिनिधियों की गतिविधियों पर निगरानी रखना चाहिए। जब तक हम राजनीति से जुड़कर नही रहेंगे तब तक देश का विकास संभव नही होगा
लोकेश भटनागर, अभिभाषक
देश की रीति-नीति राजनीति के माध्यम से ही तय होती है। रीति-नीति हमेशा सिद्धांतो पर बनना चाहिए लेकिन यह तभी संभव होगा जब अच्छे लोग बैठेंगे और अपने निज त्यागेंगे ।
आनंदस्वरूप श्रीवास्तव, अभिभाषक
ग्राम पंचायत से लेकर केन्द्र सरकार तक जितने भी प्रतिनिधि जाते है वे सब जनता द्वारा ही चुने जाते है । अच्छे लोगों के राजनीति में शामिल नहीं होने से अवसरवादी लोगों को लाभ मिलता है।
रोहित माथुर, अभिभाषक
राजनीति में आ रहे नेता ही सिद्धांतों का पालन नहीं कर रहे हैं। स्वार्थ के वशीभूत नेता जनहित भूल जाते हैं। नेताओं की अनदेखी से ही भ्रष्टाचार चरम पर है।
रामेश्वर यादव, अभिभाषक
वर्तमान राजनीति बहुत गंदी हो चुकी है। बाहुबली ५ साल में करोड़पति हो रहे है । ईमानदार नेता चप्पल घिस-घिसकर थक चुके है।
सनाउल्ला खॉन, अभिभाषक
स्वच्छ राजनीति के माध्यम से ही देश आगे बढ़ेगा। इसलिए राजनीति को स्वच्छ करने में हर वर्गको सहभागिता दिखाना चाहिए।
धर्मेन्द्र परमार, अभिभाषक

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned