नासा ने भेजा अपना उपग्रह, हवा और अंतरिक्ष के छोर का लगाएगा पता

नासा ने भेजा अपना उपग्रह, हवा और अंतरिक्ष के छोर का लगाएगा पता

Mohit Saxena | Updated: 11 Oct 2019, 12:35:19 PM (IST) New Delhi, Delhi, Delhi, India

  • उपग्रह का नाम आइकॉस्फेरिक कनेक्शन एक्सप्लोरर है
  • उपग्रह को दो साल की देरी से लॉन्च किया गया है

वाशिंगटन। नासा ने गुरुवार रात को एक उपग्रह को लॉन्च किया है। इसका उद्देश्य यह पता लगाना होगा कि हवा और अंतरिक्ष आपस में कहां मिलते हैं। इस उपग्रह का नाम आइकॉस्फेरिक कनेक्शन एक्सप्लोरर है। इस उपग्रह को दो साल की देरी से लॉन्च किया गया है।

इस उपग्रह को फ्लोरिडा तट से दूर अटलांटिक महासागर के ऊपर से उड़ान भरते हुए एक विमान से गिराया गया। विमान से गिराए जाने के पांच सेकेंड बाद उपग्रह में लगे रॉकेट ने इसे पूर्व निर्धारित पथ पर लेकर गया।

यह वायुमंडल के सबसे ऊपरी परत पर काम करने वाला है। पृथ्वी से लगभग 80 किलोमीटर के बाद का संपूर्ण वायुमंडल आयनमंडल कहलाता है। आयतन में आयनमंडल अपनी निचली हवा से कई गुना अधिक है। आयनमंडल की उपयोगिता रेडियो तरंगों के प्रसारण में सबसे अधिक है। शार्ट वेव्स को हजारों किलोमीटर तक आयनमंडल के माध्यम से ही पहुंचाया जाता है।इसकी मदद से कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण काम करते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned