आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद, बरेली, शाहजहांपुर में 10 Private University को मंजूरी

आगरा में एक, मथुरा में तीन, फिरोजाबाद में दो, बरेली में तीन, शाहजहांपुर में एक निजी विश्वविद्यालय बनेगा।

By: अमित शर्मा

Published: 06 Feb 2020, 05:05 PM IST

आगरा। उत्तर प्रदेश मंत्रिपरिषद ने 28 प्रस्तावों की प्रायोजक संस्थाओं को निजी विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु ‘आशय-पत्र’ निर्गत करने का निर्णय लिया है। आगरा में एक, मथुरा में तीन, फिरोजाबाद में दो, बरेली में तीन, शाहजहांपुर में एक निजी विश्वविद्यालय बनेगा।

यह भी पढ़ें- बाइक सवार को पिकअप ने रौंदा, मौके पर ही मौत

उत्तर प्रदेश निजी विश्वविद्यालय अधिनियम में व्यवस्था
उत्तर प्रदेश राज्य में उच्च शिक्षा प्रदान करने हेतु नये निजी विश्वविद्यालयों की स्थापना करने और विद्यमान निजी विश्वविद्यालयों को निगमित करने तथा उनके कृत्यों को विनियमित करने और उससे सम्बन्धित विषयों की व्यवस्था करने के लिए ‘उत्तर प्रदेश निजी विश्वविद्यालय अधिनियम, 2019’ (उत्तर प्रदेश अधिनियम संख्या-12 सन् 2019) विधायी अनुभाग-1 की अधिसूचना दिनांक 06 अगस्त, 2019 द्वारा प्रख्यापित किया गया है। उच्च शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश शासन की अधिसूचना दिनांक 30 अगस्त, 2019 द्वारा इस अधिनियम को दिनांक 01 सितम्बर, 2019 से प्रवर्तित किया गया है।

यह भी पढ़ें- ठेकेदार ने लगाया अपहरण कर जान से मारने की कोशिश का आरोप

प्रस्तावों का परीक्षण
उत्तर प्रदेश में निजी क्षेत्र के अन्तर्गत विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु उच्च शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश शासन में प्राप्त प्रस्तावों का परीक्षण उपरोक्त अधिनियम, 2019 के प्राविधानों के अन्तर्गत राज्य विश्वविद्यालय के कुलपति की अध्यक्षता में गठित की गयी समितियों के माध्यम से कराया गया। शासन को प्रस्तुत की गयी निरीक्षण आख्याओं पर विचार कर संस्तुति उपलब्ध कराने मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया, जिसमें अपर मुख्य सचिव, वित्त विभाग, उत्तर प्रदेश शासन, प्रमुख सचिव, न्याय विभाग, उत्तर प्रदेश शासन, सचिव, उच्च शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश शासन तथा विशेष सचिव, उच्च शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश शासन को सदस्य नामित किया गया।

यह भी पढ़ें- वाहन चेकिंग के नाम पर दंपति से ठगी

मुख्य सचिव ने की थी संस्तुति
मुख्य सचिव समिति द्वारा विचारोपरान्त 28 प्रस्तावों की प्रायोजक संस्थाओं को आशय-पत्र निर्गत करने की संस्तुति की गयी है। शारदा विश्वविद्यालय आगरा, के0एम0 (कृष्ण मोहन) विश्वविद्यालय मथुरा, एस0के0एस0 इन्टरनेशनल यूनिवर्सिटी मथुरा, के0डी0 यूनिवर्सिटी मथुरा, एफ0एस0 यूनिवर्सिटी शिकोहाबाद, फिरोजाबाद, ऐवेन्यूज इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी फिरोजाबाद, राममूर्ति स्मारक यूनिवर्सिटी बरेली, श्री सिद्धिविनायक यूनिवर्सिटी बरेली, फ्यूचर यूनिवर्सिटी बरेली, वरुण अर्जुन यूनिवर्सिटी शाहजहांपुर को निजी विश्वविद्यालय का आशय पत्र दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- कल्याण सिंह बोले- श्रीराम मंदिर निर्माण ट्रस्ट में दलित ही क्यों, OBC भी हो

इन्हें भी मिली मंजूरी
इनके अलावा इनमें आई0आई0एल0एम0 विश्वविद्यालय ग्रेटर नोएडा, राधा गोविन्द विश्वविद्यालय चन्दौसी, संभल, नारायण यूनिवर्सिटी कानपुर नगर, आई0टी0एस0 यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा, बाबू जय शंकर गया प्रसाद यूनिवर्सिटी उन्नाव, के0सी0सी0 यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा, आॅरडिअल विश्वविद्यालय मड़िहान, मिर्जापुर, बैक्सिल नेशनल विश्वविद्यालय मुजफ्फरनगर, कैरियर यूनिवर्सिटी लखनऊ, विद्या विश्वविद्यालय मेरठ, सरोज इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी लखनऊ, प्रसाद इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी लखनऊ, टी0एस0 मिश्रा विश्वविद्यालय लखनऊ, एच0आर0आई0टी0 विश्वविद्यालय गाजियाबाद, सरस्वती ग्लोबल यूनिवर्सिटी उन्नाव, युनाइटेड विश्वविद्यालय इलाहाबाद, महात्मा गांधी स्किल एण्ड ओपेन यूनिवर्सिटी उन्नाव, वेदान्ता विश्वविद्यालय मुजफ्फरनगर, के प्रस्ताव शामिल हैं।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned