सीएम योगी की सुरक्षा में लगी थी पुलिस, उधर तमंचे की नोंक पर लूट लीं 6 बकरीं

सीएम योगी की सुरक्षा में लगी थी पुलिस, उधर तमंचे की नोंक पर लूट लीं 6 बकरीं
goat

Dhirendra yadav | Updated: 26 Oct 2017, 07:34:32 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

पिनाहट में बदमाशों ने चाकू और तमंचे के बल पर घर के अंदर से आधा दर्जन बकरियों को खोल लिया और अपने साथ ले गए।

आगरा। सीएम योगी आदित्यनाथ के आगरा आगमन को लेकर पूरी पुलिस सुरक्षा व्यवस्था में लगी थी, तो वहीं पिनाहट में बदमाशों ने चाकू और तमंचे के बल पर घर के अंदर से आधा दर्जन बकरियों को खोल लिया और अपने साथ ले गए। पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है।

ये है मामला
थाना पिनाहट के मोहल्ला नया पुरा निवासी मानिक चंद, फौरन प्रजापति, नेकराम धानुक और मल्लहन टूला निवासी पप्पू के पशु घर के आंगन में बंधे हुए थे। गुरुवार रात्रि 1 बजे 5 असलाधारी बदमाश नया पुरा मोहल्ला में घुस आए । मानिकचंद खरंजे पर चारपाई पर लेटे हुआ था और पत्नी गंगा देवी गली में चारपाई पर सो रही थी। तभी पांच लोग घर के अंदर घुसने लगे। घर के अंदर घुसते समय दरवाजा चोरों से टकरा गया। आवाज सुन बुजुर्ग महिला जाग गई । महिला ने शोर मचाना शुरू कर दिया । महिला की चीखने की आवाज सुन बुजुर्ग मानिक चंद जाग गया । बदमाशों ने बुजुर्ग मानिकचंद पर तमंचा तान दिया और बुजुर्ग महिला गंगा देवी के गले पर चाकू लगा दिया। दोनों को बंधक बनाकर चोर घर में बंधी एक बकरी ले गए । इसके अलावा चोर पड़ोस के ही फेरन सिंह प्रजापति और नेकराम धानुक की एक एक बकरी और मल्लहन टूला से पप्पू निषाद की पांच बकरी भी ले गये । बुजुर्ग दम्पति ने बताया कि बदमाश कार से आए थे।

एक बदमाश को पहचाना
वहीं पीड़ित महिला ने एक बदमाश को पहचान लिया है। पुलिस ने महिला की शिनाख्त के आधार पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बताया गया है कि आरोपी घिरोर का रहने वाला है और अपने फूफा के यहां पिनाहट के खटीक मोहल्ला में दो दिन पूर्व आया है। पीड़ितों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है।

नहर न चलने से किसान परेशान
चम्बल नदी से निकलने वाली नहर बन्द पड़ी है और किसानों को फसलो की बुबाई के लिये खेतों की पलैवट करनी है। इस कारण किसानों के लिये नहर चिन्ता का बिषय बन चुकी है। चम्बल नदी से निकलने वाली नहर जो कि कस्बा से निकलकर इटावा तक हजारों बीघा भूमि को सींचित करती है और इस समूचे क्षेत्र का किसान इसी नहर पर निर्भर है,किन्तु इस समय आलू, सरसों व गेहूं जैसी कीमती फसलों की बुबाई के लिये किसानों को खेतों की पलेवट करनी है, जिसको लेकर किसान खासे परेशान हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned