मढ़ैया में जा रहे एबीवीपी कार्यकर्ता, आखिर क्यों

मढ़ैया में जा रहे एबीवीपी कार्यकर्ता, आखिर क्यों
ABVP

Bhanu Pratap Singh | Publish: Jun, 10 2016 09:48:00 AM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

एबीवीपी का सामाजिक अनुभूति-2016 अभियान जोरों से चल रहा है। कार्यकर्ता गांवों में जा रहे हैं। मढ़ैया में जाकर हालचाल पूछ रहे हैं।

आगरा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का सामाजिक अनुभूति-2016 अभियान जोरों से चल रहा है। कार्यकर्ता गांवों में जा रहे हैं। मढ़ैया में हालचाल पूछ रहे हैं। कार्यकर्ता गांव में रात्रि प्रवास कर रहे हैं। हर परिवार से सम्पर्क कर उनसे फॉर्म भरवा रहे है। आगरा, मथुरा, हाथरस, कासगंज, फ़िरोज़ाबाद और एटा में अब तक कुल 150 से भी गांवों में सर्वे किया जा चुका है। 300 से ज्यादा कार्यकर्ता इस अभियान में लगे हुए है। यह अभियान 15 जून तक चलेगा।

आगरा में 70 कार्यकर्ता लगे
एबीवीपी के प्रचार प्रमुख देवांश भट्ट ने बताया की जिले की 5 तहसील में 14 टीम काम कर रही हैं। हर टीम में 5 कार्यकर्ता हैं। 4 टीमों ने 48 गाँवों में सम्पर्क पूरा किया है। टीमें सामाजिक भेदभाव, रीतिरिवाज, शिक्षा व्यवस्था, सामाजिक व्यवस्था पर सर्वे कर रही हैं। यादवेन्द्र प्रताप सिंह, डॉ. अमित अग्रवाल, योगेन्द्र त्यागी, शिवराज सिंह सिकरवार, आशीष शास्त्री निरीक्षण कर रहे हैं।

एत्मादपुर तहसील
एत्मादपुर तहसील में प्रदेश सहमंत्री लाले गौतम के नेतृत्व में अब तक 10 गांवों में सर्वे किया जा चुका है। नगला छबीला, चोगों, उजरई, पीलीपोखर में तरुण राणा, शिवप्रताप, मनीष बघेल आदि ने सर्वे किया।

किरावली तहसील
किरावली तहसील में शशांक चौधरी और मोहित सोलंकी के नेतृत्व में कीठम , धंतोली, अरसेना, सींगना में सर्वे किया गया। उनके साथ ललित शर्मा, गौरव सोलंकी, कुलदीप दीक्षित आदि कार्यकर्ता थे।

खेरागढ़ तहसील
खेरागढ़ तहसील में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गौरव शर्मा के नेतृत्व में अब तक लल्लूपुरा, रावतपुरा, राजपुरा, शाहपुर आदि गांवों  में राहुल जोशी, सत्यजीत सिकरवार, अनिल परमार आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

बाह तहसील
बाह तहसील में संगठन मंत्री अभिषेक त्रिवेदी और दीपक बघेल के नेतृत्व में नाँदगाँव, नरोली, जैतपुर में मुकेश राजपूत, विकास प्रजापति आदि ने सर्वे किया।

सदर तहसील
सदर तहसील में प्रदेश सोशल मीडिया प्रमुख सौरभ पाराशर, महानगर मंत्री आशुतोष मिश्रा और महानगर सहमंत्री आर्यन दिवाकर के नेतृत्व में सिकंदरपुर , पंचगईखेड़ा, खेरा, रोहता में सर्वे किया। उनके साथ आशीष शास्त्री, भरत शर्मा, पंकज रावत आदि कार्यकर्ता थे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned