आगरा में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर सीएम योगी सख्त, हटाए गए मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल

स्वास्थ्य महकमे में तेजी से बदलाव करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा के राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. जीके अनेजा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है

By: Karishma Lalwani

Published: 13 May 2020, 05:02 PM IST

आगरा. ताजनगरी में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार एक्शन में आ गई है। स्वास्थ्य महकमे में तेजी से बदलाव करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा के राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल (Agra Medical College Principle) डॉ. जीके अनेजा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। डॉ. जीके अनेजा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी के पद पर तैनात थे। उन्हें संकट के समय में छुट्टी पर जाने के लिए प्रधानाचार्य के पद से हटाकर चिकित्सा शिक्षा महानिदेशालय से संबद्ध कर दिया गया है। उनकी जगह संजय काला को आगरा भेजा गया है। जीके अनेजा को लखनऊ में चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण निदेशालय भेजा गया है।

कार्यवाहक प्रधानाचार्य के रूप में रहेंगे संजय काला

डॉ. जीके अनेजा की जगह संजय काला को आगरा मेडिकल कॉलेज में कार्यवाहक प्रधानाचार्य बनाया गया है। संजय काला अभी तक कानपुर में राजकीय मेडिकल कॉलेज में सामान्य सर्जरी विभाग के हेड हैं। वहीं झांसी मेडिकल कॉलेज के ईएनटी विभाग के डॉ जितेंद्र सिंह यादव को डॉ संजय काला के सहयोग के लिए आगरा भेजा गया है।

14 अप्रैल से 21 अप्रैल तक से छुट्टी पर

डॉक्टर जीके अनीजा 14 अप्रैल से 21 अप्रैल तक छुट्टी पर थे। लखनऊ से आई टीम ने शासन को रिपोर्ट दी कि यह बड़ी लापरवाही है। इस लापरवाही के चलते योगी सरकार ने उन्हें प्रधानाचार्य के पद से हटाकर चिकित्सा शिक्षा महानिदेशालय से संबद्ध कर दिया है।

हटाए गए सीएमओ और एडी

इससे पहले लापरवाही दिखाने वालों के खिलाफ एक्शन लेते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने आगरा के के मुख्य चिकित्सा अधिकारी और अपर निदेशक चिकित्सा एवं परिवार कल्याण को हटाया गया। हटाए गए दोनों जून में सेवानिवृत्त हो रहे हैं। उनकी जगह हाल में आगरा के विशेष कार्याधिकारी बनाए गए डॉ. आरसी पांडेय को मुख्य चिकित्साधिकारी बनाया गया है। इस पर रहे डॉ. मुकेश कुमार वत्स को डीएम कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है। इसी तरह विशेष कार्याधिकारी बनाए गए डॉ. अविनाश सिंह को आगरा का अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण आगरा मंडल बनाया गया है। इस पद पर रहे डॉ. एके मित्तल को मंडलायुक्त कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है।

ताजनगरी में 777 पॉजिटिव केस

ताजनगरी में अब तक 777 कोरोना के पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। हालांकि, राहत की बात है कि यहां 369 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज किए गए हैं। 25 लोगों की जान गई है। योगी सरकार ने ताजनगरी में संक्रमण के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए पांच अफसर भेजे हैं। जिन्होंने मंगलवार को शहर के जनप्रतिनिधियों और आइएमए के डॉक्‍टर्स के साथ बैठक की। इस दौरान एसएन मेडिकल कॉलेज और क्वारैंटाइन सेंटर्स में व्याप्त अव्यवस्थाओं का हवाला देते हुए इन दोनों मोर्चों पर सुधार की आवश्यकता पर जोर दिया गया।

COVID-19
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned