बहुचर्चित बबलू हत्याकांड का हुआ खुलासा, शार्प शूटर्स ने की थी हत्या

बहुचर्चित बबलू हत्याकांड का हुआ खुलासा, शार्प शूटर्स ने की थी हत्या
बहुचर्चित बबलू हत्याकांड का हुआ खुलासा, शार्प सूटरों ने की थी हत्या

Amit Sharma | Updated: 14 Sep 2019, 07:38:19 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

-प्रॉपर्टी डीलर की हत्या का खुलासा
-कॉटेक्ट किलिंग का शिकार हुआ था बबलू
-पांच लाख रूपये में दी गई थी सुपारी
-फिरोजाबाद के शार्प सूटर संजय ने मारी थी गोली
-दो गिरफ्तार फरार बदमाशों की तलाश में जुटी पुलिस

आगरा। उत्तर प्रदेश सरकार के गले की फांस बन चुके बबलू हत्याकांड का शनिवार को आगरा पुलिस ने खुलासा किया है। 15 दिसम्बर 2018 को थाना सिकन्दरा क्षेत्र के होली पब्लिक स्कूल के सामने अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर ककरैठा निवासी बबलू की हत्या कर दी थी। थाना सिकन्दरा पुलिस ने किरावली तिराहे से बाइक सवार दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस गिरफ्त में आये दोनों बदमाश में सत्यवीर निर्भयगढी थाना पचोखरा फिरोजाबाद व दीपा उर्फ सनक सिंह रामनगर थाना पचोखरा फिरोजाबाद का रहने वाला है, जो पेशेवर हत्यारे हैं। प्रॉपर्टी डीलर बबलू की हत्या पांच लाख की सुपारी देकर थाना सिकन्दरा के के नगर के रहने वाले सलुआ उर्फ देवा ने कराई थी। गिरफ्तार बदमाशों को जेल भेजा गया है।

यह भी पढ़ें- देवर-भाभी ने जहर खाकर की आत्महत्या, पढ़िए आखिर क्यों?

पेशेवरों ने की थी हत्या
थाना सिकन्दरा पुलिस के हत्थे चढे शातिर बदमाशों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि हत्या करना उनका पेशा है। वह सुपारी लेकर हत्या करते हैं, जेल जाना उनके लिए आम बात है। गिरफ्तार हुए सत्यवीर व दीपा ने बबलू की हत्या करने का इकबाल किया है। सत्यवीर ने बताया है कि बबलू को चार लोगों ने घेरा था जिसमें गोली गांव अलाऊ टुण्डला फिरोजाबाद के संजय ने मारी थी।

यह भी पढ़ें- यूपी के इस शहर में सर्किल दरें बढ़ीं तो आ जाएगी आफत, ADF ने मुख्यमंत्री को बताया कि क्या होगा नुकसान

शातिरों का आपराधिक इतिहास
पेशेवरों का लम्बा आपराधिक इतिहास है। जिसमें सत्यवीर पर दर्जनभर मुकदमे हैं, तो वहीं दीपा पर तीन मुकदमे दर्ज हैं। इनके कब्जे से पुलिस ने दो तमंचे व एक बाइक बरामद की है।

यह भी पढ़ें- हिन्दी दिवसः अहिन्दी भाषियों के लिए हिन्दी में रोजगार का द्वार है केन्द्रीय हिन्दी संस्थान

ये हैं फरार
सरेराह हुए हत्याकांड का मास्टरमाइंड थाना सिकंदरा के केके नगर का रहने वाला सलुआ व उसका भाई मनोज फरार हैं। इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने वाले शातिर पेशेवर अपराधियों में बबलू को गोली को मारने वाला संजय व फिरोजाबाद के थाना पचोखरा के निर्भय गढी का वीनेश भी फरार है। पुलिस फरार बदमाशों की तलाश में जुट गई है।

यह भी पढ़ें- मंडलायुक्त और आईजी के इन निर्देशों का पालन हो जाए तो रामराज आ जाएगा

कई बार हुआ था धरना
बबलू हत्याकांड के खुलासे के लिए उसके परिजनों ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यालय का कई बार घेराव किया था। खुलासे में देरी पर परिजनों को धरना प्रदर्शन भी करना पडा था। थाना सिकन्दरा में बबलू की हत्या का मुकदमा उसके भाई विनीत यादव ने दर्ज कराया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned