दीवाली से पहले ही मंडराया इस शहर पर खतरा, नवजात शिशु, गर्भवती महिलाओं के लिए आफत

दीवाली से पहले ही मंडराया इस शहर पर खतरा, नवजात शिशु, गर्भवती महिलाओं के लिए आफत

Abhishek Saxena | Publish: Oct, 31 2018 11:40:39 AM (IST) | Updated: Oct, 31 2018 11:40:40 AM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

आगरा में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर पर, दीवापली के पटाखों से और बढ़ेगा प्रदूषण

आगरा। सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों के चलाने पर समय निर्धारित कर दिया लेकिन, प्रदूषण का स्तर दीपावली से पहले ही खतरनाक होता जा रहा है। स्मॉग की चादर शहर में सुबह सुबह छाई रहती है। एयर क्वालिटी इंडेक्स लगातार खतरनाक स्तर पर पहुंच रहा है। दीपावली से पहले ताजनगरी आगरा में खतरे की घंटी बज रही है। चिकित्सकों का कहना है कि नवजात शिशुओं, गर्भवती महिलाओं और बुजुर्गों के लिए ये स्तर बेहद ही खतरनाक है। सुबह की सैर के लिए निकलने वाले लोगों के लिए भी बुरी खबर है। यदि संभव हो कुछ दिनों के लिए सुबह जल्दी टहलने पर विराम लगा दें या फिर मॉस्क पहनकर घर से बाहर निकलें।

आगरा में लगातार बढ़ रहा प्रदूषण
पिछले कुछ दिनों से आगरा शहर में भी प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है। एयर क्वालिटी इंडेक्स की बात करें तो आगरा का एक्यूआई 354 की गंभीर स्थिति में मंगलवार को दर्ज किया गया था। जो बेहद खतरनाक है। वातावरण में ये एक्यूआई मानव स्वास्थ्य के लिए बेहद हानि पहुंचा सकता है।

चिकित्सकों की ये है सलाह
वरिष्ठ फिजीशियन डॉ.मृदुल चतुर्वेदी का कहना है कि 354 एक्यूआई की रेंज बेहद खतरनाक है। सांस संबंधी रोगों का लोग शिकार हो सकते हैं। आस्थमा के मरीजों के लिए ये बेहद खतरनाक लेबल है। यदि सुबह की सैर करने जा रहे हैं तो मॉस्क पहनकर जाएं। अच्छी क्वालिटी का मॉस्क लेना जरूरी है। वहीं गर्भवती महिलाएं, बुजुर्ग और नवजात शिशुओं को इस लेबल के प्रदूषण पर घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। पेड़ों को पानी से साफ करना चाहिए। आसपास धूल जमा न होने दें।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned