जल्द एक हो सकते हैं शिवपाल और अखिलेश, जानिए कैसे?

ज्योतिषाचार्य की भविष्यवाणी मुलायम सिंह की ग्रहदशा में परिवर्तन आया है। अब अखिलेश और शिवपाल को मिलाने की उनकी कोशिश कामयाब हो सकती है।

By: suchita mishra

Published: 15 Nov 2018, 10:40 AM IST

आगरा। जब से शिवपाल यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनायी है, तब से सपा संरक्षक मुलायम सिंह मानो बंट गए है। कभी वे भाई के कार्यक्रम में नजर आते हैं तो कभी अखिलेश के। इसका कारण है कि उनका भाई और बेटे दोनों से ही लगाव है और उन्हें अच्छी तरह मालूम है कि सपा को बनाने में शिवपाल यादव ने कितनी मेहनत की है। वे कभी नहीं चाहते थे कि ये चाचा भतीजे अलग हों। लेकिन उनकी ये कोशिश अब तक बेनतीजा रही है। ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र का कहना है कि मुलायम की खराब ग्रहदशा के चलते न सिर्फ उनकी कोशिशें नाकामयाब हुई हैं, बल्कि उनकी प्रतिष्ठा भी प्रभावित हुई है। लेकिन 6 मार्च के बाद इस परिवार के समीकरण बदल सकते हैं, जानिए कैसे?

ज्योतिषाचार्य के मुताबिक मुलायम सिंह की कुंडली कर्क लग्न की है। पिछले डेढ़ साल से कर्क राशि पर राहू बैठा है। इसके कारण उनकी प्रतिष्ठा और स्वास्थ्य दोनों में फर्क पड़ा है। लेकिन 6 मार्च को राहू कर्क राशि से हटकर मिथुन राशि पर जा रहा है। वहीं 11 अक्टूबर को गुरू वृश्चिक राशि पर आ गया है। ये संतान का घर होता है। इसके चलते मुलायम और अखिलेश के बीच और निकटता आएगी। गुरू 13 महीने तक वृश्चिक राशि में रहेगा।

ये स्थितियां समाज और परिवार में उनकी प्रतिष्ठा को बढ़ाएंगी। साथ ही इससे उनका स्वास्थ्य भी सुधरेगा। गुरू के कारण वे अखिलेश से अपनी बात मनवाने में कामयाब होंगे। ग्रहों की इस स्थिति के बीच यदि मुलायम कोशिश करेंगे तो अखिलेश और शिवपाल को फिर से एक करने में कामयाब हो सकते हैं और यदि ऐसा हो जाता है तो 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में उनके परिवार व पार्टी को इसका फायदा मिल सकता है।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned