372 वर्ष पुराना बटेश्वर मेला है बेहद खास, जानिए क्या है इसकी कहानी

Dhirendra yadav

Publish: Oct, 13 2017 10:43:21 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
372 वर्ष पुराना बटेश्वर मेला है बेहद खास, जानिए क्या है इसकी कहानी

मेले को लेकर सीडीओ ने की बैठक, अधिकारियों को दिए गए व्यवस्थाओं को लेकर निर्देश।

आगरा। उत्तर भारत के विख्यात बटेश्वर मेला की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। 1645 में तत्कालीन भदावर नरेश बदन सिंह ने मेला शुरू किया था। उस दौरान मेले में हाथी भी बिकने आते थे। सेना के लिए ऊंट और घोड़े यहीं से खरीदे जाते थे। आज भी ये मेला बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इस मेले को लेकर मुख्य विकास अधिकारी रविन्द्र कुमार मांदड़ ने विकास भवन सभागार में बैठक की।

व्यवस्थाएं हो सकें दुरुस्त
बैठक में मेला स्थल तक सम्पर्क मार्ग की व्यवस्था, यात्रियों व व्यापारियों के लिए वाहनों की व्यवस्था, प्रकाश व्यवस्था, जेनरेटरों द्वारा प्रकाश की व्यवस्था, हण्डों से प्रकाश की व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था, जलापूर्ति, चिकित्सा व्यवस्था, पशुओं की चिकित्सा, मिट्टी का तेल एवं चीनी , विकास प्रदर्शनियों, सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा पर्यटन आदि व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में विस्तृत विचार विमर्श किया गया है।

सौंपी गईं जिम्मेदारियां
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने उप जिलाधिकारी बाह सुरेन्द्र सिंह व क्षेत्रीय अभियंता बिजली विभाग, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सुरजीत गुप्ता को निर्देश दिए कि मेला क्षेत्र का निरीक्षण कर यह सुनिश्चित कर लें, कि बिजली के तार ऊंचे व सड़क से दूरी पर हो, जिससे किसी वाहन से बिजली के तारों का सम्पर्क न होने पाए। उन्होंने जल कल विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया कि मेला में पानी की कोई कमी न हो व पानी की टैंकरो की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने क्षेत्रीय अभियंता पार्किंग व्यवस्था हेतु ठेका उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत को निर्देश दिए कि चिकित्सा व्यवस्था, एम्बुलेंस व्यवस्था हेतु सीएमओ को अनुस्मारक भेजे व अग्निशमन विभाग को मेला में अग्निशमन की व्यवस्था हेतु पत्र लिखें। उन्होंने पार्किंग की व्यवस्था अलग-अलग दिशा में करने व स्टीमर तथा गोताखोरों की व्यवस्था रखने के निर्देश दिए।

ये रहे मौजूद
बैठक में पुलिस अधीक्षक नित्यानन्द राय द्वारा बताया गया कि मेला में शान्ति व कानून व्यवस्था हेतु पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया जाएगा व कोतवाली भी बनाई जाएगी। बैठक में परियोजना निदेशक एके वाजपेयी, उप निदेशक सूचना डॉ. राजेन्द्र यादव, डीडी पर्यटन दिनेश कुमार, क्षेत्रीय अधिकारी देवेन्द्र सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned