10 Sep 2018 Bharat Bandh : जानिए दस सितम्बर किन कारणों से होगा भारत बंद, भाजपा को अपने गढ़ में मिली चुनौती

10 Sep 2018 Bharat Bandh : जानिए दस सितम्बर किन कारणों से होगा भारत बंद, भाजपा को अपने गढ़ में मिली चुनौती

Abhishek Saxena | Publish: Sep, 07 2018 10:33:40 AM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 02:44:10 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

10 Sep 2018 Bharat Band : दस सितम्बर को Petrol की बढ़ी कीमतें, महंगाई और Rafel Fighter Jet Deal में हुई धांधली के चलते कांग्रेस ने किया बंद का ऐलान

आगरा। पहले दो अप्रैल फिर छह सितम्बर और अब दस सितम्बर को Bharat Bandh। जी हां दस सितम्बर को भारत बंद रहेगा। ऐसी घोषणा कांग्रेस पार्टी द्वारा की गई है। कांग्रेस पार्टी ने Petrol - Diesel की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस ने 10 सितंबर को ‘भारत बंद’ का आह्वान किया है।

कांग्रेस ने इसलिए बुलाया बंद
आगरा में कांग्रेस जिलाध्यक्ष दुष्यंत शर्मा ने बताया कि शीर्ष नेतृत्व ने दस सितम्बर को Bharat Bandh की घोषणा की है। लेकिन, आम जनता की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए इस बंद को सुबह नौ बजे से दोपहर तीन तक ही रखा गया है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार में पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही है। Petrol and Diesel के बढ़ते मूल्य की मार से जनता परेशान है। पेट्रोल 79.51 रुपये प्रति लीटर और डीजल 71.55 रुपये प्रति लीटर की ऊंची दर पर बिक रहा है, जिसने पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए है। इसका सीधा असर किसानों और आम जनता पर पड़ रहा है। दुष्यंत शर्मा का कहना है कि Congress Bharat Bandh का सहयोगी दल भी समर्थन करेंगे। ऐसा अनुमान है।

 

bharat bandh

रुपया लगातार गिर रहा, सरकार उद्योगपतियों को सहयोग कर रही
कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने हमलावर होते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किसान, आम आदमी की कमर तोड़ने का काम किया है। ये सरकार पूंजीपतियों की सरकार है। रुपया लगातार गिर रहा है, इस बारे में सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं।

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: भारत बंद का असर: भाजपा सरकार के लिए और बढ़ीं मुश्किलें, अब दो अक्टूबर की तैयारी

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: SC ST Act: दलितों की पंचायत में लिया गया एक महत्वपूर्ण फैसला

दो बार हो चुका है भारत बंद
गौरतलब है कि दस सितम्बर को यदि Bharat Bandh रहा तो ये पहला मौका होगा, जब नौ महीने में तीन बार भारत बंद होगा। इससे पहले अनुसूचित जाति के लोग दो अप्रैल को भारत बंद कर चुके हैं। जबकि सवर्णों ने SC-ST Act में संशोधन का विरोध करने पर छह सितम्बर को भारत बंद किया था।

Ad Block is Banned