कैराना में 50 हजार वोटों से जीतेगी भाजपा, दो गांवों में वोट कम मिलेंगे

74 गांव और 135 बूथों का दौरा करने के बाद विधायक चौधरी उदयभान सिंह ने की घोषणा, 20 दिन से चुनाव प्रचार में लगे

By: Bhanu Pratap

Published: 24 May 2018, 02:25 PM IST

आगरा। फतेहपुर सीकरी से भारतीय जनता पार्टी के विधायक चौधरी उदयभान सिंह इस समय कैराना लोकसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह को जिताने के लिए पसीना बहा रहे हैं। वे पिछले 20 दिन से शामली में हैं। जाटबहुल गांवों में पार्टी के लिए माहौल बना रहे हैं। 134 बूथों का दौरा करने के बाद उन्होंने पत्रिका से कहा कि भाजपा की जीत तय है। 50 हजार वोटों से चुनाव जीतेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि दो गांवों में भाजपा को वोट कम मिलेंगे।

यह भी पढ़ें

BJP विधायक सत्यपाल सिंह राठौर से दुबई से मांगी गई रंगदारी, परिवार सहित जान से मारने की धमकी

पत्नी एम्स में भर्ती, फिर भी चुनाव प्रचार कर रहे

पार्टी के निर्देश पर चौधरी उदयभान सिंह चार मई से कैराना लोकसभा क्षेत्र में भ्रमण कर रहे हैं। उनकी पत्नी शांति देवी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), दिल्ली में भर्ती हैं। उन्हें कैंसर की शिकायत है। हाल ही में उनके दो भाइय़ों की असामयिक मृत्यु हो चुकी है। इसके बाद भी वे लगातार कैराना में जाटों के गांवों में घूम रहे हैं।

यह भी पढ़ें

भ्रष्टाचार पर योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, जेल भेजे गए पूर्व चेयरमैन

Chaudhary udaybhan singh

हर बूथ पर 40-60 फीसदी जाट वोट भाजपा के लिए

चौधरी उदयभान सिंह ने फोन पर पत्रिका से कहा- इलेक्शन ने इतना जोर पकड़ लिया है कि मुसलमान के अलावा जाटव वोट भी भाजपा की तरफ आ रहा है। हिन्दू वोटर में से जाट वोट सर्वाधिक एग्रेसिव है। कोई भी बूथ ऐसा नहीं है, जिसमें 40-60 फीसदी जाटों के वोट न मिलें। दो गांव ऐसे हैं, जिनमें जाट वोट चौधरी अजित सिंह को अधिक मिलेग। ये हैं- भारसी औऱ बहावड़ी। इस बार कहीं भी कोई भी बूथ कैप्चर नहीं कर पाएगा। गूजर और कश्यप वोट 100 प्रतिशत भाजपा के पक्ष में है। वैश्य वोट नाराज है, लेकिन जो नाराजगी 10 दिन पहले थी, वो आज नहीं है। जो आज नहीं है, वो तीन दिन बाद खत्म हो जाएगी। शामली में जाम की स्थिति अधिक रहती है, जिसके निदान के लिए योजना बनाई गई है।

यह भी पढ़ें

अब बरेली के भाजपा विधायक को मिली धमकी, मोबाइल का इंटरनेट किया बंद

Chaudhary udaybhan singh

70 गांवों में 134 बूथ देखे

उन्होंने बताया कि लोकद प्रत्याशी जाटव वोट को अपनी ओर मोड़ रहा है। यहां यह भी ध्यान रखना है कि 10-25 फीसदी जाटव वोट भाजपा को मिलने जा रहा है। गठबंधन का असर तो है, लेकिन इतना नहीं कि भाजपा प्रत्याशी को हरा दे। उन्होंने बताया कि 70 गांवों का दौरा कर लिया है। 134 बूथ खुद देखे हैं। बूथ स्तर पर भाजपा रणनीति बना रही है। शुक्रवार तक 140 बूथ हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें

आंबेडकर-दीनदयाल उपाध्याय प्रतिमा विवाद में आया बड़ा बयान

क्या दे रहे तर्क

चौधरी उदयभानसिंह ने बताया कि जाटों को समझा रहे हैं कि लोकदल के कारण देश में जाटों की लीडरशिप घटी है। लोकदल को ताकत देने का मतलब है मुस्लिमों को ताकत देना। भाजपा को ताकत देने का मतलब है जाट को ताकत देना और लोकदल की ताकत देने का मतलब है नॉन जाट को देना। विधानसभा में भाजपा ने 16 जाट बैठाए हैं। लोकदल के समय इतने जाट क्यों नहीं थे? अजित के लिए अपनी पूरी कौम को दांव पर न लगाएं। उन्होंने कहा कि लोगों की समझ में बात आ रही है। इसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं।

ह भी पढ़ें

रमजान-ए मुबारक यानी रहमतों वाला महीना, जानिए रोजे नहीं रखते तो क्या होता है...

 

Bharatiya Janata Party
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned