प्रेमिका की हत्या के तीसरे दिन जहर खाकर थाने पहुंचा प्रेमी, बोला..मैंने उसे मारा था, अब मैं भी नहीं बचूंगा..ध्यान से सुनो मेरी बात

 

प्रेमी ने पुलिस को हत्या से जुड़ी पूरी कहानी सुनाई। इसके बाद इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

By: suchita mishra

Published: 03 Dec 2019, 11:23 AM IST

आगरा। खेरागढ़ के गांव खां के गढ़ में 29 नवंबर की रात एक किशोरी की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। उसका शव शनिवार सुबह प्राइमरी स्कूल के परिसर के खंडहर भवन में मिला था। हत्या के बाद से पुलिस लगातार आरोपी की तलाश में जुटी थी। हत्यारे को पकड़ने के लिए पुलिस ने तीन दिनों में 25 लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई निष्कर्ष नहीं निकला। पुलिस ने कॉल डिटेल्स निकलवाई तो एक नंबर पर सबसे ज्यादा बातचीत हुई थी। पुलिस की शक की सुई इसी शख्स पर अटकी थी। डिटेल निकलवाई तो पता चला कि नंबर हेत सिंह तोमर उर्फ छोटू उर्फ कमल पुत्र रणवीर सिंह तोमर निवासी छिछावली गांव मुरैना का है। पुलिस ने उसके घर दबिश दी, लेकिन वो नहीं मिला। कुल मिलाकर सोमवार दोपहर तक पुलिस के हाथ इस मामले में पूरी तरह खाली थे।

यह भी पढ़ें: श्रद्धालुओं से भरी बस की कंटेनर से भिड़ंत, मची चीख-पुकार, देखें वीडियो

लड़खड़ाते हुए पहुंचा थाने
लेकिन सोमवार की रात करीब आठ बजे अचानक हेत सिंह तोमर लड़खड़ाते हुए खेरागढ़ थाने पहुंचा। उसके हाथ में एक खाली शीशी थी। थाने पहुंचने के बाद दरोगा और सिपाही को देखते ही बोला लड़की की हत्या मैंने की है। मेरी बात ध्यान से सुनो। मैंने जहर खाया है। अब बचूंगा नहीं। इसके बाद उसने पुलिस को किशोरी की मौत की पूरी कहानी सुनायी।

हेत सिंह

शक के कारण कर दी हत्या
हेत सिंह ने बताया कि मैं उसे बेइंताह प्यार करता था। वो भी मुझसे बहुत प्यार करती थी, लेकिन कुछ दिनों से उसका व्यवहार बेरुखा हो गया था। मुझे शक हो गया कि हमारे बीच कोई आ गया है। मैंने उससे पूछा तो उसने जवाब दिया प्यार एक बार होता है, बार बार नहीं। उसके सामने तो मुझे उसकी बात पर यकीन हो जाता था, लेकिन उसके जाते ही मन फिर से विचलित होने लगता था। मुझे डर था कि कहीं मैं उसे खो न दूं। इसलिए मैंने उसे बुलाया और कहा कि हम दोनों एक साथ मरेंगे। लेकिन मरने की बात सुनकर उसने मना कर दिया। इसके बाद मैंने चाकू से उसका गला रेतकर हत्या कर दी। इसके बाद चाकू को स्कूल के पास पोखर में फेंक दिया। उसकी जान लेने के बाद मेरा खुद का जीने का मन नहीं किया, इसलिए मैंने जहर खा लिया। पुलिस ने हेत सिंह को आनन फानन में एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned