सरकारी गौशाला में सांड़ों की मौत, RSS नेता ने मिला दिया उपमुख्यमंत्री को फोन और फिर...

सरकारी गौशाला में सांड़ों की मौत, RSS नेता ने मिला दिया उपमुख्यमंत्री को फोन और फिर...
bull

suchita mishra | Updated: 21 May 2019, 10:03:22 AM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

बांईपुर, सिकंदरा में सरकारी गौशाला है। यहां करीब-करीब रोज सांड़ मड़ रहे हैं।

आगरा। बांईपुर, सिकंदरा में सरकारी गौशाला है। यहां करीब-करीब रोज सांड़ मड़ रहे हैं। बिना पोस्टमार्टम के ही शव जमीन में दबा दिया जाता है। इससे मौत का असली कारण पता नहीं लग पा रहा है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के गौसंवर्धन प्रकोष्ठ के संयोजक कौशल अग्रवाल इस बारे में पशुपालन विभाग के अधिकारियों से बात करते हैं। परिणाम कुछ नहीं होता है। इससे व्यथित कौशल अग्रवाल ने उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा से फोन पर बात की। इसके बाद राहत की उम्मीद है। महापौर नवीन जैन आज गौशाला का निरीक्षण करेंगे।

फिर मर गए छह सांड़
बाईंपर आश्रय स्थल में सैकड़ों सांड़ हैं। पांच दिन पहले पांच गौवंशों की मौत हो गई। सरकारी अधिकारियों ने कहा कि सांड़ आपस में लड़ मरे हैं। अगले दिन ही फिर से दो सांड़ मर गए। इसके बाद वेटेरनरी विश्वविद्यालय, मथुरा की टीम ने गौशाला का दौरा किया। यह पाया गया कि यहां इंतजामात ठीक नहीं हैं। साड़ों को खाने के लिए सूखा भूसा दिया जा रहा है, जो पेट में जाकर चिपक जाता है। पीने का पानी भी पर्याप्त नहीं है। इसके बाद भी कुछ नहीं किया गया। परिणाम यह निकला कि सोमवार को फिर से छह सांड़ों की मौत हो गई।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के गौसंवर्धन प्रकोष्ठ के संयोजक कौशल अग्रवाल लगातार प्रयास कर रहे हैं कि गौशाला की स्थिति ठीक हो। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. एके दौनेरिया को फोन लगाया, बात नहीं हुई। अपनी पार्टी के लोगों को फोन करते रहे। कहीं से कोई मदद नहीं मिली। इस पर उन्होंने उत्तर प्रदेश के उपमुख्यंत्री डॉ. दिनेश शर्मा को फोन मिला दिया। उन्हें गौशाला में सांड़ों की मौत और अधिकारियों की लापरवाही के बारे में जानकारी दी। इस पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि वे जिलाधिकारी से बात कर रहे हैं। महापौर को भी अवगत कराएंगे। नगर निगम की भी जिम्मेदारी है कि गौशाला ठीक से चले।

महापौर आज करेंगे निरीक्षण
महापौर नवीन जैन ने बताया कि वे बांईपुर स्थित गौशाला का निरीक्षण आज दोपहर 12 बजे करेंगे। देखेंगे के क्या समस्या है। उन्होंने कहा कि गौवंश को बचाना हमारी जिम्मेदारी है। अगर अधिकारी गौशाला की देखरेख में लापरवाही बरत रहे हैं तो कार्रवाई की जाएगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned