गौशाला में गौवंश की मौत, आरएसएस नेताओं ने महापौर के सामने मुर्दाबाद के नारे लगाए, बहसबाजी, देखें वीडियो

गौशाला में गौवंश की मौत, आरएसएस नेताओं ने महापौर के सामने मुर्दाबाद के नारे लगाए, बहसबाजी, देखें वीडियो
Bulls death in Gaushala

Dhirendra yadav | Publish: May, 21 2019 06:23:21 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

महापौर और गौसेवकों में बहसबाजी हो गई। दोनों ने एक दूसरे पर राजनीति का आरोप लगाया।

आगरा। गौशाला में गौवंश की लगातार हो रही मौतों पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेताओं का धैर्य जवाब दे गया। बांईपुर स्थति सरकारी गौशाला में जमीन पर बैठकर नारेबाजी की। इतना ही नहीं, जब गौशाला का निरीक्षण करने आए महापौर नवीन जैन जब बाहर से ही जाने लगे तो उनके खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। इसके बाद महापौर और गौसेवकों में बहसबाजी हो गई। दोनों ने एक दूसरे पर राजनीति का आरोप लगाया।

गेट से जाने लगे तो नारेबाजी
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के आगरा विभाग गौसंवर्धन प्रमुख कौशल अग्रवाल गौशाला में हो रही मौतों पर व्यथित थे। जब उनकी बात किसी ने नहीं सुनी तो उन्होंने उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा को फोन मिला दिया। इसके बाद अधिकारी सक्रिय हुए। दोपहर में महापौर नवीन जैन गौशाला का निरीक्षण करने पहुंचे। गौशाला के गेट पर ही रुक गए। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्सा अधकारी डॉ. अशोक दौनिरया से बात की। वहीं पर उपस्थित पत्रकारों से बात की। इसके बाद जाने लगे। पत्रकारों ने कहा कि अंदर क्यों नहीं देख रहे। गौशाला के अंदर गौसेवक कौशल अग्रवाल, अभिषेक उपाध्याय, देवकी नंदन, अवधेश, डॉ. रामगोपाल, हरिप्रकाश, जितेन्द्र रैपुरिया, कैलाश मंदिर के महंत आदि को पता चला तो गुस्से में आ गए। गौशाला में धरना दे दिया। महापौर के खिलाफ नारेबाजी कर दी।

राजनीति का आरोप
नारेबाजी सुनकर महापौर अंदर गए और कहा कि आपने राजनीति शुरू कर दी है। गौसेवकों ने कहा कि यहां उपमुख्यमंत्री के कहने पर आए हैं और बाहर से ही वापस जा रहे हैं,राजनीति आप कर रहे हैं या हम। इस पर महापौर ने कहा कि आप राजनीति कर लें। बहस के बाद गौसेवक चले गए। इसके बाद महापौर ने गौशाला का निरीक्षण भी नहीं किया। गौसेवकों ने सीवीओ मुर्दाबाद के नारे भी लगाए।

गौशाला की स्थिति
गौसेवक पूर्वाह्न 11 बजे गौशाला पहुंच गए थे। सुबह से ही सफाई का काम चल रहा था। भूसा लाया जा रहा था। टैंक में पानी भर दिया था। ट्रैक्टर ट्रॉली लगे हुए थे। कौशल अग्रवाल ने कहा कि आज मजदूर काम के लिए कहां से आ गए, पहले तो रोते रहते थे। चिकित्सक कोई नहीं था। महापौर अपराह्न एक बजे आए। गौशाला की स्थिति खराब है। यहां 900 सांड़ हैं। रोजाना मौत हो रही है। इसकी किसी को चिन्ता नहीं है। आरोप है कि मौत के बाद सांड़ों का पोस्टमार्टम भी नहीं कराया जाता है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App .

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned