टीटीजेड पर कमिश्नर गंभीर, अधिकारियों को दिए ये सख्त निर्देश

कमिश्नर केराम मोहन राव ने अधिकारियों के साथ की टीटीजेड बैठक

By: धीरेंद्र यादव

Published: 07 Jun 2018, 11:24 AM IST

आगरा। ताज ट्रेपेजियम जोन प्रदूषण प्राधिकरण की 42 वीं तथा अनुश्रवण समिति की बैठक आयुक्त सभागार में सम्पन्न हुई। जिसमें कमिश्नर केराम मोहन राव ने टीटीजेड के अन्तर्गत जो अधिकारी अपने दायित्व के निर्वहन में लापरवाही बरत रहे है, ऐसे अधिकारी व विभागों के विरुद्ध सेक्शन-05 की नोटिस जारी करने के साथ ही साथ सेक्शन-19 में नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इसके तहत एक लाख रुपये का जुर्माना व सजा का भी प्रावधान है। उन्होंने कहा कि जो अधिकारी टीटीजेड के अन्तर्गत कार्यों को गम्भीरता से नहीं लेंगे, उनके विरूद्ध सेक्शन 19 की नोटिस जारी करने पर निर्णय लिया जाएगा।

नाराज हुए कमिश्नर
आयुक्त ने जिलाधिकारी भरतपुर तथा नगर आयुक्त मथुरा, द्वारा बैठक में अनुपस्थित रहने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बैठक से अनुपस्थित रहने वाले अन्य सभी अधिकारियों से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने आगरा शहर से डेयरी शिफ्ट न करने पर भी नाराजगी प्रकट की। उन्होंने नगर निगम आगरा द्वारा कूड़ा उठाने व कूड़ा जलाये जाने पर अपेक्षित कार्रवाई न करने पर निर्देशित किया कि 03 टीमें लगाकर अपेक्षित कार्रवाई सुनिश्चित की जाए तथा उसका विवरण व्हाट्स-अप पर भी प्रेषित किया जाय, तभी कार्य हुआ माना जायेगा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को हर हाल में अपना दायित्व निर्वहन करना पड़ेगा। उन्होंने कूड़ा तुरन्त उठाये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि कूड़ा उठाने व सफाई के प्रति जागरूकता हेतु वार्डवार आभियान चलाया जाए। उन्होंने प्रदूषण नियंत्रण इकाई को निर्देशित किया कि वे आगामी 12 जून तक एडीए को यह प्रमाण पत्र उपलब्ध करा दें कि पेठा इकाईयां, कोयले से नहीं संचालित हो रही हैं।

गंभीर हो जाएं अधिकारी
आयुक्त ने उपाध्यक्ष, आगरा विकास प्राधिकरण से अपेक्षा की कि वे टीटीजेड के कार्यों को गम्भीरता से लेते हुए ऐसे विभाग जो भविष्य की अपनी प्लानिंग नहीं प्रस्तुत किए है, उनके विरूद्ध नोटिस जारी करें। उन्होंने मुख्य कार्यकारी अधिकारी छावनी परिषद द्वारा बैठक में कभी भी न आने पर उच्चतम न्यायालय की निर्देशों की प्रति, पत्र के साथ उन्हें भेजने के निर्देश दिए। जनपद भरतपुर में स्टोन क्रशर क्षेत्र में प्रदूषण की स्थिति का अवलोकन कर उसका विवरण देने हेतु जिलाधिकारी भरतपुर को निर्देशित किया। बैठक में आगरा शहर में जुगाड़ वाहनों पर हुई कार्रवाई तथा उन्हें कटवाने की फोटों भेजने के साथ आरटीओ को सचेत करते हुए निर्देशित किया गया कि शहर में कोई भी जुगाड़ वाहन न चलने पाए।

धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned