भाजपा सांसद, विधायक व मेयर समेत पांच बड़े नेताओं के खिलाफ दिल्ली की कोर्ट का फैसला सुरक्षित, जानिए क्या है पूरा मामला

भाजपा सांसद, विधायक व मेयर समेत पांच बड़े नेताओं के खिलाफ दिल्ली की कोर्ट का फैसला सुरक्षित, जानिए क्या है पूरा मामला

suchita mishra | Publish: Sep, 11 2018 11:26:05 AM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 11:28:28 AM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India


वर्ष 2009 से दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में चल रहा है मुकदमा, 28 सितंबर को फैसला सुनाया जा सकता है।

आगरा। अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष व सांसद रामशंकर कठेरिया, फतेहपुर सीकरी के भाजपा विधायक चौधरी उदयभान सिंह व आगरा के मेयर नवीन जैन समेत पांच नेताओं के सिर पर बड़ी मुसीबत मंडरा रही है । जानकारी के मुताबिक वर्ष 2009 में दिल्ली में सड़क पर जाम लगाने और तोड़ फोड़ करने के मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित कर लिया है । सोमवार को पांचों नेता कोर्ट में पेश हुए थे। बताया जा रहा है कि 28 सितंबर को फैसला सुनाया जा सकता है।

ये है पूरा मामला
दरअसल वर्ष 2009 में आगरा की समस्याओं को लेकर भाजपाइयों ने दिल्ली में पदयात्रा निकाली थी। उस समय उनका पुलिस से टकराव भी हुआ था । तब पुलिस ने अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया, फतेहपुर सीकरी के भाजपा विधायक चौधरी उदयभान सिंह, पूर्व मंत्री हरद्वार दुबे व भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष पुरुषोत्तम खंडेलवाल की गिरफ्तारी की थी । साथ ही इनके खिलाफ थाने में तोड़ फोड़ किए जाने व सड़क पर जाम लगाने का मुकदमा दर्ज किया था। उस समय इन्हें जमानत मिल गई थी ।

वर्ष 2010 में जब इनके खिलाफ वारंट जारी हुए तो पांचों ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट से जमानत करा ली। तब से कोर्ट में इस मामले की सुनवाई चल रही है। सूत्रों के मुताबिक इस मामले में सोमवार को लंबी बहस के बाद कोर्ट ने अपना आखिरी फैसला सुरक्षित कर लिया है जिसे 28 सितंबर को सुनाया जा सकता है।

दोषी पाए गए तो हो सकती है ये सजा
जानकारों का मानना है कि अगर ये पांचों नेता मामले में दोषी पाए जाते हैं तो इन्हें कम से कम तीन माह की सजा या जुर्माना या फिर दोनों हो सकते हैं।

Must Read - SC ST Act के खिलाफ ताल ठोक रहे देवकीनंदन ठाकुर पर पुलिस ने कसा शिकंजा, क्षत्रिय समाज में आक्रोश

Ad Block is Banned