धवल संगमरमरी इमारत का वो स्मारक जिसे कहते हैं "बेबी ताज", जानिए 10 रोचक तथ्य

धवल संगमरमरी इमारत का वो स्मारक जिसे कहते हैं

Amit Sharma | Updated: 14 Aug 2019, 05:00:00 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

देशी पर्यटकों लिए टिकिट दर मात्र 10 रूपये और पन्द्रह साल से छोटे बच्चों के लिए कोई टिकिट नहीं है। विदेशी सैलानियों का टिकिट दर 110 रूपये है।

मुगलिया शहर आगरा में स्मारकों की भरमार है, उसमें से एक एत्मादुद्दौला स्मारक है। ताजमहल जैसी आकृति का नजर आने वाला और धवल संगमरमरी स्मारक होने के कारण इसे "बेबी ताज" के नाम से भी पुकारा जाता है। यह स्मारक मुगलकालीन निर्माण शैली का अतुलनीय उदाहरण है । यह स्मारक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित ईमारत है।

1- एत्मादुद्दौला का निर्माण सन 1622-28 के बीच मुगल बादशाह जहाँगीर के काल में हुआ था। ये मिर्जा ग्यासबेग और उनकी पत्नी अस्मत बेगम का मकबरा है।

Itmad ud daula

2- मिर्जा ग्यासबेग ईरान के रहने वाले थे और बादशाह अकबर की दरवार में सेवारत थे। मिर्जा ग्यासबेग प्रसिद्ध मुगल बादशाह जहांगीर की बेगम नूरजहां के पिता "मुमताज महल" के दादा थे।

Itmad ud daula

3- बादशाह जहाँगीर ने नूरजहाँ से निकाह करने के पश्चात उन्हें अपना बजीर बना दिया था । उन्हें सात मनसब और "ऐत्मादुद्दौला" (शाही कोषाध्यक्ष ) का पद प्राप्त था।

Itmad ud daula

4- मिर्जा ग्यासबेग की पत्नी की मृत्यु के कुछ महीने बाद ही सन 1622 में उनकी मृत्यू हुई । नूरजहाँ ने अपने माता-पिता के लिए यह मकबरा सन 1622-28 के मध्य बनवाया।

Itmad ud daula

5- एत्मादुद्दौला स्मारक आगरा शहर के मध्य में यमुना नदी के किनारे है। इस स्मारक पर आगरा के अन्य स्मारक/रेलवे स्टेशन या बस स्टैंड से स्थानीय वाहनों जैसे रिक्शा, टैम्पो, बस से आसानी से पंहुचा जा सकता है।

Itmad ud daula

6- राष्ट्रीय राजमार्ग-2 से दिल्ली कि तरफ से अंतराज्जीय बस स्टैंड से होते हुए, वाटरवर्क्स चौराहे से यमुना नदी के जवाहर सेतु से होते हुए रामबाग चौराहे से दाहिने मुड़ कर करीब दो किलोमीटर चलने के बाद यह स्मारक आ जाता है।

Itmad ud daula

7- यमुना एक्सप्रेसवे या कानपुर की तरफ से आने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग दो से होते हुए आगरा के तरफ चलने के बाद शाहदरा, उसके बाद नुनिहाई होते हुए इस स्मारक पर पहुंच सकते हैं।

Itmad ud daula

8- बिजलीघर चौराहे, ताजमहल या लाल किले से यमुना किनारे मार्ग से यमुना पर बने अम्बेडकर सेतु से होते हुए इस स्मारक पर पहुंच सकते हैं।

Itmad ud daula

9- देशी पर्यटकों लिए टिकिट दर मात्र 10 रूपये और पन्द्रह साल से छोटे बच्चों के लिए कोई टिकिट नहीं है। विदेशी सैलानियों का टिकिट दर 110 रूपये है।

Itmad ud daula

10- पूरे स्मारक में फोटोग्राफी मुफ्त है, पर वीडियोग्राफी के लिए 25.00 का टिकिट लेना पड़ता है । टिकिट लेने के बाद एक पत्थर के गलियारे से होते हुए, इसके दोनों तरफ बगीचे व घास के मैदान से होते हुए स्मारक के मुख्य ऊंचे और लाल पत्थर पर संगमरमर से नक्काशीदार दरवाजे पर टिकिट चेक कराने के बाद मुख्य स्मारक पर पहुँच जाते है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned