60 हजार रुपये महीने की कमाई कराती है ये साइकिल, जानिये क्या है विशेषता

सक्षम डावर मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा तैयार कराई गई इस साइकिल की कीमत महज 20 से 25 हजार है

आगरा। आज जब बेरोजगारी से युवा जूझ रहा है, वहां हम आपको बताने जा रहे हैं, एक ऐसी साइकिल के बारे में, जो हर माह 60 हजार रुपये की कमाई करा सकती है। चौंकिये मत ये सच है। दरअसल सक्षम डावर मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा तैयार कराई गई इस साइकिल की कीमत महज 20 से 25 हजार है, लेकिन ये साइकिल चलती फिरती चाय की दुकान है। सक्षम डावर मेमोरियल ट्रस्ट के चेयरमैन और जूता उद्यमी पूरन डावर ने बताया कि किसी भी जरूरतमंद को वे ये साइकिल उपलब्ध करा देंगे, बस उसमें काम करने की ललक होनी चाहिये। उन्होंने पत्रिका टीम को साइकिल पर चाय स्वयं बनाकर दिखाई।

ये भी पढ़ें - यदि आपकी बाइक की नंबर प्लेट पर लिखा है, पुलिस और प्रेस तो आज ही हटा दें...

ये है साइकिल की खासियत
वैसे तो ये साइकिल आम दिखने वाली साइकिलों की तरह ही है, लेकिन इसमें जो सिस्टम लगाया गया है, वो बेहद खास है। इस साइकिल पर लकड़ी से तैयार किया गया एक पूरा सिस्टम है, जो एक चाय की की छोटी सी दुकान के रूप में है। इस सिस्टम में गैस सिलेंडर, स्टोव के अलावा चाय के साथ खाने के लिए स्नैक्स भी रखे जा सकते हैं। चाय बनाने की केतली से लेकर पानी को गर्म करने की केतली भी इस साइकिल के अंदर रखी जा सकती है। इसके अलावा चाय परोसने वाले गिलास भी साइकिल के अंदर मौजूद है, जो महज एक बटन दबाने से बाहर निकल आते हैं।

ये भी पढ़ें - किसानों के लिए जारी हुये ये निर्देश, हुई ये भूल तो देना होगा 15 हजार का जुर्माना

इस तरह होती है कमाई
पूरन डाबर ने बताया कि आज रोजगार की कमी नहीं है, बस काम करने वालों की कमी है। कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता है। छोटी सी शुरुआत ही हर काम को बड़ा बनाती है। उन्होंने बताया कि पढ़ाई लिखाई करने के बाद युवा महज सात से आठ हजार रुपये की नौकरी के लिए परेशान रहता है, ऐसे में यदि इस साइकिल को अपना ले, और एक सिस्टम के तहत इस काम की शुरुआत करें, तो 60 हजार रुपये हर माह कमा सकता है। एक दिन में दो हजार रुपये की बचत आराम से हो सकती है।

ये भी पढ़ें - 700 प्रकार की रक्त व स्वास्थ्य से संबंधित जांच इस लैब में होंगी सरकारी रेटों पर, मेयर ने किया शुभारंभ

इस तरह होती है बचत
पूरन डाबर ने बताया कि इस साइकिल को ऐसे स्थान पर खड़ा किया जाए, तो वीआईपी क्षेत्र में शुमार हैं। जैसे ताजमहल के पास। वहां पर यदि इस साइकिल को खड़ा किया जाए, तो शानदार दिखने वाली इस साइकिल की ओर पहले से ही लोग आकिर्षत होंगे। इसके अलावा उन्हें जब इस साइकिल पर ग्रीन टी, जिंजर टी जैसी चाय मिलेगी, तो वह बड़ी ही आसानी से इसे खरीदेंगे। चाय की कीमत 20 रुपये रखें और चाय बनाने की कॉस्ट अधिक से अधिक 4 से पांच रुपये आती है। इसके अलावा खाने के सामान में भी बचत होती है। यदि एक दिन में 100 चाय और अन्य सामान बेचते हैं, तो भी आसानी से 2 हजार रुपये तक की बचत हो जाएगी।

ये भी पढ़ें - दोस्ती पड़ी महंगी, हुआ कुछ ऐसा कि छह दिन होटल में साफ करने पड़े बर्तन

निःशुल्क उपलब्ध करा सकते हैं
उन्होंने बताया कि सक्षम डावर मेमोरियल ट्रस्ट सीएसआर के मध्यम से साइकिल को निःशुल्क भी उपलब्ध करा सकता है। जरूरत इस बात की है कि काम करने वाला चाहिए। शिल्पग्राम रोड पर साइकिल खड़ी करने की अनुमति भी जिलाधिकारी से दिलवा देंगे। उन्होंने कहा कि पूरे सिस्टम में प्लास्टिक का कहीं भी उपयोग नहीं किया जा रहा है। गंदगी नाममात्र के लिए भी नहीं होगी। चाय भी इस तरह से बनानी है कि छानने की जरूरत भी नहीं होगी। ये सर्दी का मौसम है। साइकिल पर चाय के लिए सबसे सटीक समय है। अपने पैरों पर खड़े होने के इच्छुक लोग डावर शू फैक्टरी, सिकंदरा पर संपर्क कर सकते हैं। एक घंट में ही प्रशिक्षण दे दिया जाएगा। आगे जाकर साइकिल में बैटरी लगाई जा सकती है, ताकि चलाने में कोई समस्या न आए।

Show More
धीरेंद्र यादव
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned