अयोध्या में सीएम योगी मना रहे दीपावली, यहां किसान लिख रहे खून से पत्र

अयोध्या में सीएम योगी मना रहे दीपावली, यहां किसान लिख रहे खून से पत्र
CM Yogi Adityanath

Dhirendra yadav | Publish: Oct, 18 2017 07:24:17 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

किसान खून से पत्र लिखकर सीएम योगी आदित्यनाथ से अपना दर्द बयां कर रहे हैं।

आगरा। अयोध्या में रामलीला के आयोजन के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ जहां उत्तर प्रदेश के किसानों की कर्जमाफी की योजना गिना रहे थे, वहीं आगरा में किसान खून से पत्र लिखकर सीएम योगी आदित्यनाथ से अपना दर्द बयां कर रहे हैं। किसानों के प्रति सरकार-प्रशासन की नीतियों के विरोध में आगरा के विकास भवन में आयोजित किसान दिवस में जिले के किसानों ने हंगामा किया। किसान दिवस का बहिष्कार किया। खून से पत्र लिख मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन उप निदेशक कृषि वीके सचान को सौंपा।

किसानों ने लगाया बड़ा आरोप
विकास भवन में बुधवार को आयोजित किसान दिवस में भारतीय किसान यूनियन के तत्वाधान में पहुंचे किसानों ने आरोप लगाया कि अधिकारी एवं कोल्ड स्टोरेज संचालकों की मिलीभगत से किसानों से आलू रखने के लिए मनमाने दाम वसूले जा रहे हैं। नहरों की सफाई कर एक नवंबर से उनमें सिचाई के लिए पानी छोड़ा जाना है, लेकिन अधिकारियों का सुस्त रवैया जारी है। किसानों ने आरोप लगाया है कि नहरों की सफाई को शासन की ओर से आए बजट को अधिकारियों और ठेकेदारों द्वारा आपस में बांट लिया जाता है। अगले हफ्ते से खरीफ की फसल (आलू, गेंहू, सरसों) की बुआई शुरू होनी है, लेकिन प्रशासन की ओर से नहरों की सफाई के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।


खून से लिखा पत्र
भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष श्याम सिंह चाहर ने इस संदर्भ में सीएम योगी आदित्यनाथ के नाम खून से पत्र लिखा। किसान दिवस की बैठक को बीच में छोड़कर बहिष्कार किया। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी गौरव दयाल एवं मुख्य विकास अधिकारी रविंद्र कुमार मांदड़ बैठक में शामिल नहीं हुए हैं, इसलिए बैठक का बहिष्कार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी और सीडीओ का बैठक में शामिल न होने से साफ जाहिर होता है कि जिला प्रशासन किसानों की समस्याओं के प्रति चिंतित नहीं है।


अधिकारी समझाते रहे
बैठक में किसानों द्वारा किए जाने वाले हंगामे को लेकर जिला कृषि अधिकारी डॉ. रामप्रवेश समझाते रहे, लेकिन किसान उनकी कोई बात सुनने को तैयार नहीं थे। किसानों ने कहा कि वे अधिकारियों का ये रवैया बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं करेंगे। इस अवसर पर वरिष्ठ उद्यायन निरीक्षक, भूमि संरक्षण अधिकारी, सिचाई विभाग के अधिकारियों सहित विद्युत विभाग एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned