Flood Alert चम्बल में बाढ़, दर्जनों गांव बने टापू, ग्रामीणों का पलायन, जनजीवन अस्त-व्यस्त, प्रशासन बेचैन

Flood Alert चम्बल में बाढ़, दर्जनों गांव बने टापू, ग्रामीणों का पलायन, जनजीवन अस्त-व्यस्त, प्रशासन बेचैन
Flood Alert चम्बल में बाढ़, दर्जनों गांव बने टापू, ग्रामीणों का पलायन, जनजीवन अस्त-व्यस्त, प्रशासन बेचैन,Flood Alert चम्बल में बाढ़, दर्जनों गांव बने टापू, ग्रामीणों का पलायन, जनजीवन अस्त-व्यस्त, प्रशासन बेचैन,Flood Alert चम्बल में बाढ़, दर्जनों गांव बने टापू, ग्रामीणों का पलायन, जनजीवन अस्त-व्यस्त, प्रशासन बेचैन

Dhirendra yadav | Updated: 16 Sep 2019, 07:25:38 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

-खतरे के निशान पर पहुंची चंम्बल नदी, अलर्ट जारी
-ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने की कवायद जारी

आगरा। राजस्थान (Rajasthan) कोटा बैराज (Kota barrage) से 6 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद चम्बल नदी रफ्तार के साथ बह रही है। चम्बल (Chambal River) का जलस्तर खतरे के निशान से करीब दो मीटर ऊपर है। हर घंटे जलस्तर में वृद्धि हो रही है। चम्बल में उफान से ग्रामीणों में दहशत बढती जा रही है। चम्बल के तटवर्ती इलाके में करीब दर्जनभर गांवों टापू बन गये हैं। ग्रामीणों की बढ़ती मुश्किलों से निपटने के लिए पीएसी के जवानों को तैनात किया गया है। गांव में बाढ़ से परेशान ग्रामीण ऊचे टीलों पर झोपड़ी बनाकर रह रहे हैं। आगरा प्रशासन बाढ़ से पैदा हुए हालातों से निपटने में जुटा है। डीएम एनजी रविकार और एसएसपी बबलू कुमार बाढ़ प्रभावित लोगों का हाल जानने बाह पहुंचे। सभी विभागों के अधिकारियों को हर स्थिति से निपटने के लिए दिशा-निर्देश जारी किये हैं।

गांव में फँसे लोग
चम्बल के इलाके में दर्जनों गांवों में बने घर पूरी तरह पानी में डूब गये हैं। सम्पर्क मार्ग का पता नहीं चल रहा है। घर में कैद सामान व पशुओं की वजह से जो लोग अभी गांवों में फंसे हुए हैं, उन्हें प्रशासन की ओर से टीम लगाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है।

यह भी पढ़ेः-
Flood Alert खतरे के निशान पर चंबल, एक दर्जन गांवों में पानी, भारी दहशत

ये गांव बने टापू
चंम्बल नदी के किनारे बसे गांव गुढ़ा, गोहरा, कछियारा उमरैठा पुरा, रेहा, रानी पुरा, भटपुरा सहित एक दर्जन गांव बुरी तरह प्रभावित हैं। इन गांवों में बसे ग्रामीणों को निकालने के लिए पीएसी के जवान लगातार जुटे हुए हैं।

यह भी पढ़ेः-बहुचर्चित बबलू हत्याकांड का हुआ खुलासा, शार्प सूटरों ने की थी हत्या

अलर्ट पर बाढ़ चौकियां
चम्बल नदी में 23 सालों का रिकॉर्ड टूटा है। नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। जबकि अभी और जलस्तर बढ़ने की संभावना है। आगरा प्रशासन ने इस क्षेत्र में पहले से ही बाढ़ चौकियां बनाई हुई हैं। बाढ़ चौकियों की मदद से प्रशासन लगातार निगरानी कर रहा है। पशुओं के लिए सुरक्षित स्थान मुहैया कराना प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है।

यह भी पढ़ेः-देवर-भाभी ने जहर खाकर की आत्महत्या, पढ़िए आखिर क्यों?

ग्रामीणों के लिए अभी और गहराये संकट
गांवों में पानी घुसने के बाद बाढ़ प्रभावित लोग असहाय हो गये हैं। राशन पानी से लेकर कपड़े विस्तर सब कुछ पानी में डूब गया है। अब ऐसे में गांवों वालों का एक-एक पल उन्हें डराने वाला है। ज्यादा दिनों तक यदि चम्बल के यही हालात रहे तो खान-पान का संकट गहरायेगा। यही हाल जानवरों का भी जो भूख प्यास से व्याकुल होने लगे हैं।

बाढ़ पीडितों की मदद को आगे आईं विधायक रानी पक्षालिका सिंह

गांवों का मुख्यालय से संपर्क टूट गया है, गांव में हर तरफ बाढ़ का पानी भरा हुआ है, ऐसे में बाह से भाजपा विधायक रानी पक्षालिका सिंह ने रविवार को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया, विधानसभा क्षेत्र के लोगों को मदद करने का भरोसा दिलाया। बाह से भाजपा विधायक रानी पक्षालिका सिंह ने बताया कि बाढ़ से बडा नुकसान हुआ है। डीएम और एसएसपी को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर नुकान का आकलन करने के बाद किसानों की हर सम्भव मदद दी जाये। बाढ़ से और नुकसान न हो, इसके लिए पुलिस और प्रशासन की टीम लगाई गई है। ग्रामीणों और उनके पशुओं को सुरक्षित स्थान पर भेजने के निर्देश दिए गए हैं। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में किसी तरह की समस्या न आए, इसके लिए अधिकारियों से लगातार संपर्क किया जा रहा है। इन क्षेत्रों में बीमारी न फैले, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम को शिविर लगाने के निर्देश दिए हैं। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार गौहरा, भटपुरा,रानीपुरा, गूढ़ा, झरना पुरा, उतरेठा, कछियारा, डगौरा सहित डेढ दर्जन गांवों में बाढ से नुकसान हुआ है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned