गंगा दशहरा 12 जून को, पक्षियों पर मँडरा रहा मौत का खतरा

गंगा दशहरा 12 जून को, पक्षियों पर मँडरा रहा मौत का खतरा
bird

arun rawat | Updated: 10 Jun 2019, 07:46:20 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

चाइनीज मांझे में फंसकर हर साल मरते हैं पक्षी, लोकस्वर संस्था के राजीव गुप्ता ने कहा- पक्षियों के लिए चिकित्सा शिविर लगाए जाएं

आगरा। गंगा दशहरा 12 जून को है। इस दिन आसमान में पतंग उड़ाई जाती हैं। इन पतंगोंमे चाइनीज मांझे का प्रयोग किया जाता है। इस कारण आसमान में परवाज भरने वाले पंछियों पर मौत का खतरा मँडरा रहा है। हर साल बड़ी संख्या में पक्षियों की मौत हो जाती है। कहने को तो सरकार ने चाइनीज मांझा पर रोक लगा रखी है, लेकिन यह खूब बिक रहा है।

 

मांझे में फँसकर घायल हो जाते हैं पक्षी
लोकस्वर के संस्थापक अध्य्क्ष राजीव गुप्ता और जीवन आधार वेलफेयर सोसाइटी की संस्थापक डॉ. मंजू गुप्ता ने बताया कि पक्षी अधिकतर टॉवर, बिजली के बड़े-बड़े खम्बे, ऊंचे भवनों या बिजली के तारों में उलझ कर करंट से प्राण त्यागते रहते हैं। गंगा दशहरा पर एक और कारण बनता है और वह है पतंग में प्रयोग किया जाना वाला चाइनीज मांझा। मांझे में फँसकर घायल हो जाते हैं और असहाय अवस्था में प्राण त्याग देते हैं। यह स्थिति पतंग उड़ाने के मौसम में बढ़ जाती है। गंगा दशहरा के पावन पर्व पर पतंगबाज़ी की प्राचीन परम्परा है। आजकल चाइनीज़ माँझे का उपयोग बढ़ने के कारण पक्षियों के घायल होने की संख्या में वृद्धि स्वाभाविक है।

पक्षियों के लिए चिकित्सा शिविर लगें
लोकस्वर संस्था व जीवन आधार वेलफेयर सोसाइटी ने इस बारे में महापौर नवीन जैन, जिलाधिकारी एनजी रविकुमार और नगर आयुक्त अरुण प्रकाश को एक पत्र लिखा है। उनसे आग्रह किया गया है कि पशु चिकित्सालयों में पक्षियों की देखरेख हेतु १२ व १३ जून को विशेष व्यस्था करवाई जाए। विभिन्न स्थानों पर पंक्षियों के लिए मेडिकल कैम्प लगवाए जाएं, ताकि उनकी देखरेख सही समय पर हो सके। घायल पक्षी को बचाया जा सके। प्रकृति की अनुपम कृति को लुप्त होने से बचाया जा सके।

पक्षियों को बचाए रखना जरूरी
राजीव गुप्ता ने बताया कि कोई यह न सोचे कि दो चार पक्षी मर जाएंगे तो कौन सा पहाड़ टूट पड़ेगा। पर्यावरण को सुरक्षित रखने में पक्षियों में बड़ा योगदान है। तमाम पौधों को पक्षी ही बचाए हुए हैं। पक्षी पौधों के बीजों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाते हैं। उन्होंने कहा है कि गर्मी के मौसम में पक्षी पानी की कमी से भी मर जाते हैं। इसलिए हर किसी को घर की छत पर पक्षियों के लिए पानी रखना चाहिए। पानी के लिए मिट्टी बर्तन वे निःशुल्क प्रदान करते हैं। सीताराम मार्केट, बेलनगंज, आगरा से पानी का बर्तन प्राप्त किया जा सकता है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned