आनंद पाल सिंह के लिए सोशल मीडिया पर नई 'जंग' छिड़ी 

 आनंद पाल सिंह के लिए सोशल मीडिया पर नई 'जंग' छिड़ी 

 Anand Pal Singh के Encounter के बाद राजस्थान की मुख्यमंत्री के लिए यहां लग रहे मुर्दाबाद के नारे

आगरा। राजस्थान सरकार के लिए Anand Pal Singh का एनकाउंटर गले की हड्डी बनता नजर आ रहा है। कई क्षत्रिय संगठन इसके लिए सोशल मीडिया पर मुहिम छेड़ चुके हैं। मध्यप्रदेश से राजस्थान तक इसका असर दिख रहा है। मुरैना से बाड़मेर तक इस चिंगारी को फैलाई जा रही है। वसुंधरा राजे के खिलाफ नारे लग रहे है। आगरा में Anand Pal के रहने की जगह की कोई रिपोर्ट सामने नहीं आई है। दरअसल आनंद पाल सिंह वर्ष 2016 में आठ दिन आगरा में रहा था। उसके तार एटा तक जुड़े थे।

ऐसे छिड़ी है मुहिम 
anand pal singh 2


छ​त्रिय समाज एकता मुरैना नाम से फेसबुक पर एक ग्रुप Gangster Anand Pal सिंह के लिए मुहिम चला रहा है। जिसपर आनंद के  एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग की जा रही है। साथ् ही उसमें गिड़ा बाड़मेर, गिड़ा तहसील मुख्यालय के लिए महत्वपूर्ण सूचना के नाम से अपील की है। इस अपील में राजपूत समाज और रावणा राजपूत समाज और सर्व समाज की से अपील है।

यह भी पढ़ें : anand-pal-singh-gangster-rajasthan-patrika-1610828/" target="_self">4 दिन से पड़ा है Anand Pal Singh का शव, Gangster की पत्नी से पुलिस ने कहा 24 घंटे में ले जाओ वरना...

पहले भी उठी है सीबीआई जांच की मांग

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के पदाधिकारी गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिले। सभी ने आंनदपाल सिंह के एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग की। गृह मंत्री ने इन मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया है।
जानिए कौन था आनंद कुमार  - Anand Pal Singh History

आनंदपाल सिंह नागौर के लाडनूं तहसील के गांव सांवराद का रहने वाला है। वह वर्ष 2006 से जरायम की दुनिया में सक्रिय था। उसपर कई मामले चल रहे थे। Anandpal Singh जेल में बंद था, 2015 में पेशी के दौरान मिठाई में नशा मिलाकर पहरेदारों को खिलाकर भाग गया था। आनंदपाल पर लूट, डकैती, गैंगवार और हत्या जैसे कई मामले दर्ज थे। आनंदपाल एके 47, ऑटोमैटिक मशीन गन, बम और बुलेट प्रूफ जैकेट इस्तेमाल ज्यादातर करता था।

Ad Block is Banned