कोरोना वॉरियर्स को जर्मनी की कंपनी फ्री में देगी खास चप्पल, 3 हजार कदमों में मिलेगा 8 हजार कदमों का लाभ

जर्मनी की कंपनी खास तरह की चप्पल (special slipper) तैयार कर रही है। कंपनी द्वारा 10 हजार चप्पलों को मुफ्त में अलग-अलग अस्पतालों में भेजा जाएगा। दावा है कि चप्पल हर कदम पर पैर की मांसपेशियों को ढाई गुना तक दबाते हैं।

By: Rahul Chauhan

Published: 24 Apr 2021, 02:19 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

आगरा। कोरोना वायरस (coronavirus) की दूसरी लहर के चलते हर रोज लाखों केस सामने आ रहे हैं। जिसके चलते यूपी में सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन (lockdown) भी लगा दिया है। वहीं बावजूद इसके अब मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी होने लगी है। जिससे निपटने के लिए सरकार द्वारा तमाम तरह के प्रयास भी किए जा रहे हैं। इस बीच कई ऐसे लोगों भी हैं जो कोरोना वारियर्स (corona warriors) के तौर पर कोरोना मरीज और उनके परिवारों की मदद को आगे आ रहे हैं। जो बिना किसी लालच के हर संभव मदद जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे हैं। अब ऐसे ही कोरोना वॉरियर्स और कोविड मरीजों के लिए आगरा में स्थित जर्मनी की एक कंपनी (german footwear company) खास तरह की चप्पल लेकर आई है। जिन्हें पहनकर चलने पर लोग फिट रहेंगे।

यह भी पढ़ें: बिल गेट्स फाउंडेशन और टाटा ने बनाया अस्पताल, मशीनें खरीदने को दिए 200 करोड़, लेकिन सरकार टेक्नीशियन ही नहीं रख पायी

slipeee.jpg

दरअसल, फिट रहने के लिए किसी भी व्यक्ति को आम तौर पर 8 हजार से 10 हजार कदम चलने के डॉक्टरों द्वारा सलाह दी जाती है। लेकिन जो जर्मन कंपनी चप्पल लेकर आई है उन्हें पहनकर 3 हजार कदम चलने पर ही यह टारगेट पूरा हो जाएगा। कंपनी का दावा है कि इन चप्पलों के इस्तेमाल से कोविड मरीज और कोरोना वॉरियर्स को खासा फायदा होगा औऱ वह काफी हद तक फिट रहेंगे। आमतौर पर जूते और चप्पलों में 7 घंटे तक बैक्टीरिया चिपके रहते हैं, लेकिन दावा है कि इन चप्पलों को आसानी से कहीं भी सैनिटाइज किया जा सकता है।

slipe.jpg

ऐसे काम करती हैं चप्पल

जूता कारोबारी आशीष जैन का कहना है कि चप्पलों को बड़ॉे पैमाने पर बनाने के लिए फैक्ट्री में काम शुरू हो चुका है। इन चप्पलों को पहनकर जब कोई 3000 कदम चलेगा तो उसको 8 हजार कदम का फायदा होगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि ये चप्पल हर कदम पर पैर की मांसपेशियों को ढाई गुना तक दबाते हैं, जिससे शरीर में खून का सर्कुलेशन और ऑक्सीजन तेजी से बढ़ता है। इन्हें बनाने के लिए खास तरह के मेटेरियल का इस्तेमाल किया गया है और इन चप्पलों को आसानी से पानी से भी साफ किया जा सकता है। इन्हें पहनने से लोगों को फायदा मिलेगा।

यह भी पढ़ें: कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा देकर जीवनदान दे रहे युवा, आर्थिक मदद के लिए भी आ रहे आगे

frtgr.jpg

10 हजार जोड़ी चप्पल दान करेगी कंपनी

आशीष ने बताया कि कंपनी द्वारा देश में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस और पीड़ितों की मदद के लिए पीएम रिलीफ फंड में 10 हजार जोड़ी चप्पल दान करने का ऐलान किया है। इन चप्पलों की कीमत करीब 50 लाख रुपये है। अभी चप्पलों को तैयार किया जा रहा है। इसके बाद इन चप्पलों को देश के अलग- अलग अस्पतालों में जरूरत के हिसाब से मुफ्त में भेजा जाएगा।

coronavirus
Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned