Gold और silver बहता है यहां की गंदी नालियों में, सुबह तलाश करने वालों की लगती है भीड़, वीडियो

Gold और silver बहता है यहां की गंदी नालियों में, सुबह तलाश करने वालों की लगती है भीड़, वीडियो
Gold and silver

Dhirendra yadav | Updated: 14 Jul 2019, 04:33:02 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

सराफा बाजार में सुबह नालियों में होती है सोने की तलाश।
एक हजार रुपये तक की कमाई कर लेते हैं सफाई कर्मचारी।

आगरा। सोना (Gold) और चांदी (Silver) जो बेहद कीमती धातु है, वो गंदी नालियों में कैसे बहाई जा सकती है। आप भी सोच में पड़ गए होंगे, लेकिन ये सच्चाई है। गंदी नालियों में बहने वाली इन धातु के कणों को खोजने के लिए सुबह भीड़ लगती है। नालियों के अलावा सड़क पर ब्रश लेकर इनके कणों की तलाश की जाती है। जानकर आप हैरान रह जाएंगे, यहां नालियों से सोने (Gold) व चांदी (Silver) के इतने कण इन सफाई कर्मचारियों को प्राप्त हो जाते हैं, कि वे दिन के हजार रुपये तो आराम से कमा लेते हैं।

ये भी पढ़ें - Raja aridaman singh: 2825 तालाबों को नया जीवन देने के लिए अफसरशाही से जूझ रहा एक राजा, देखें वीडियो

यहां का है ये नजारा
ये नजारा आपको देखने के लिए मिलेगा किनारी बाजार, नमक की मंडी, फाटक सूरजभान में, जो आगरा का सबसे बड़ा सराफा बाजार है। यहां सोना (Gold) चांदी (Silver) के आभूषणों का थोक का काम होता है। आभूषणों की बनाई और घिसाई के दौरान सोने व चांदी के छोटे-छोटे कण निकलते हैं। साफ-सफाई में यह कण नाली में गिर जाते हैं। ऐसे में इन कणों को निकालने के लिए सुबह-सुबह सफाई करने वाले लोगों की भीड़ लग जाती है।

ये भी पढ़ें - भिखारी बच्चों की तकदीर बदल रहीं डॉ. हृदेश चौधरी ने patrika.com के माध्यम से की मार्मिक अपील, देखें वीडियो

सुबह होती है तलाश
इन तीनों ही बाजारों में सुबह के समय इनकी तलाश की जाती है। ब्रश, झाडू, चलनी और पारात लेकर लोग इन कणों की तलाश करते हैं। कुछ नालियों पर जमे बैठे होते हैं, तो कुछ सड़कों की ब्रश से सफाई करते हुए इन कणों की तलाश करते हैं। इन कणों को आसानी से नहीं पहचाना जा सकता है। गंदे पानी और कीचड़ के बीच में सोने-चांदी के छोटे-छोटे कणों को एकत्र करने के बाद इन्हें बारीक छलनी की सहायता से धो लिया जाता है, जिसके बाद इनकी पहचान करना बेहद आसान हो जाता है।

ये भी पढ़ें - आगरा के ‘काबुल’ में ‘जैन’ ने 1530 में बनवाई थी मस्जिद, इस स्थान को कहा जाता था स्वर्ग से सुंदर

ये कहते हैं सफाई करने वाले लोग
सराफा बाजार की इन गलियों में सुबह 6 बजे पहुंची पत्रिका टीम ने इन लोगों से बात की। यहां सड़क की सफाई करने वाले आसिम ने बताया कि मेहनत लगती है, ऐसे ही सोना नहीं मिल जाता है। साबिर ने कहा कि रोज हजार रुपये की कमाई आसानी से हो जाती है, कभी कभी दो सौ के पास ही कमाई सिमट कर रह जाती है। अरमान ने बताया कि ये काम बेहद कठिन है, लेकिन अब तो आदत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें - Airport in Agra तीन गांवों की जमीन पर बनेगा नया सिविल एनक्लेव

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned