हिंदू नव वर्ष के शुभ आगमन पर सजा रूहानी कीर्तन दरबार

हिंदू नव वर्ष के शुभ आगमन पर सजा रूहानी कीर्तन दरबार

Dhirendra yadav | Publish: Mar, 15 2018 07:27:26 AM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

गुरुद्वारा दशमेश दरबार शहीद नगर में सजा कीर्तन दरबार।

आगरा। गुरुद्वारा दशमेश दरबार शहीद नगर विभव नगर प्रबंधक कमेटी व समूह साध संगत द्वारा बड़े हर्षोल्लास के साथ नया संवत नानकशाही 550 नये साल की खुशी में श्री अखण्ड साहिब जी का पाठ गुरुद्वारा दशमेश दरबार विभव नगर शहीद नगर पर अलौकिक रूहानी कीर्तन दरबार की शुरुआत की गई। रागी भाई गुरशरन सिंह द्वारा संगतों को कीर्तन शब्द गुरुवाणी की रसधारा में सरोबार कर निहाल किया गया।

ये भी पढ़ें -

पुस्तक मेल में बच्चों को सुनाई कहानियां, दिए पुरस्कार

संगत हुई निहाल
गुर सिखा मन बधाईयां बधाईयां, जिस के सिर ऊपर तू स्वामी सो दुख कैसा पावै, आखा जीवा विसरे मर जाऊं, गुरु प्यारी संगत कीर्तन सुन मंत्र मुग्ध हो उठी। बोले सो निहाल सतश्रीअकाल के जयकारों की गूंज से पूरा गुरद्वारा परिसर गुंजायमान हो उठा। गुरु प्यारी संगतों ने अपनी हाजिरी भर गुरुघर की खुशियां प्राप्त की। हजूरी रागी भाई जगजीत सिंह द्वारा कीर्तन कर संगत को गुरु घर से जोड़ा श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के आगे अरदास भाई मंशा सिंह द्वारा की गई। गुरु महाराज के आगे सभी ने एक चित सरबत के भले की अरदास की। अरदास के बाद सभी धर्म प्रेमियों ने गुरु का अटूट लंगर ग्रहण किया।

ये भी पढ़ें -

आगरा पुस्तक मेला: श्रोताओं के दिल में उतर गए व्यंग्यकार

संगत का हुआ सत्कार
गुरुद्वारा परिसर में नया संवत नानकशाही गुरु नानक देव जी के नए साल की खुशियां आपस में एक दूसरे को बधाई देकर सांझा की और गुरु महाराज का शुकराना किया। गुरुद्वारा साहब को भव्य सजाया गया था। आए हुए सभी संगतों का गुरुद्वारा प्रधान भाई नरेंद्र सिंह सेठी द्वारा आदर सत्कार किया गया। इस मौके पर मौजूद रहे गुरु सेवक श्याम भोजवानी, रविंदर सिंह ओबराय, बलविंदर सिंह सैनी, हरपाल सिंह, संतोष सिंह, सुखबीर सिंह कोहली, त्रिलोचन सिंह रिंकू, कुलवंत सिंह।

ये भी पढ़ें -

किसान की बेटी ने महाराष्ट्र में जीती कुश्ती, पूरे गांव में जश्न

Ad Block is Banned