VIDEO कांवड़ यात्रा को लेकर बरेली में फिर गर्माया माहौल, पुलिस ने संभाला मोर्चा

Amit Sharma | Publish: Aug, 24 2018 05:16:34 PM (IST) | Updated: Aug, 24 2018 05:16:35 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

कांवड़ यात्रा का विरोध कर रहे सैकड़ों की तादात में लोग कांवड़ यात्रा के मार्ग पर एकत्र हो गए। जिसके बाद दूसरे पक्ष के लोग भी नकटिया चौकी के पास एकत्र हो गए और नारेबाजी करने लगे।

बरेली। बिथरी चैनपुर में कांवड़ यात्रा को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक बार फिर कांवड़ यात्रा को लेकर माहौल गर्मा गया। कांवड़ यात्रा का विरोध कर रहे सैकड़ों की तादात में लोग कांवड़ यात्रा के मार्ग पर एकत्र हो गए। जिसके बाद दूसरे पक्ष के लोग भी नकटिया चौकी के पास एकत्र हो गए और नारेबाजी करने लगे। माहौल बिगड़ता देख पुलिस ने भीड़ को मौके से खदेड़ दिया। एहतियातन पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। एसपी सिटी अभिनंन्दन सिंह, एसपी क्राइम राजेश कुमार भारतीय ने भारी पुलिस के साथ इलाके में डेरा डाल रखा है।

यह भी पढ़ें- पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि कलश यात्रा जानिये कहां पहुंची, 25 अगस्त का यहां देखें रूट प्लान

क्या है मामला

बिथरी चैनपुर के खजुरिया गांव के लोग मुस्लिम बाहुल्य उमरिया गांव के रास्ते से कांवड़ ले जाना चाहते हैं। लेकिन उमरिया गांव के लोग इसका विरोध कर रहे हैं। सावन के अंतिम सोमवार को भी इस मार्ग से कांवड़ निकालने का प्रयास किया गया था लेकिन प्रशासन की सख्ती के चलते कांवड़िए कांवड़ यात्रा नहीं निकाल पाए थे। गांव के के कुछ लोग गुरुवार को कांवड़ यात्रा निकालना चाहते थे उनके समर्थन में तमाम हिंदूवादी नेता भी खजुरिया गांव पहुंच गए लेकिन जब इसकी जानकारी दूसरे समुदाय को हुई तो लोग सड़कों पर उतर आए। स्थिति को भांपते हुए मौके पर कई थानों का पुलिस फोर्स और पीएसी भी पहुंच गई।

भाजपा विधायक हुए थे नजरबंद

खजुरिया गांव से कांवड़ निकालने का बिथरी चैनपुर के भाजपा विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल भी समर्थन कर रहे हैं जिसके कारण उन्हें रविवार और सोमवार को उनके कार्यालय में ही नजरबंद कर दिया गया था। विधायक के नजरबंद होने के बाद कांवड़िए कांवड़ यात्रा नहींं निकाल पाए थे और उन्होंने धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था।

Ad Block is Banned