scriptLeopard suddenly seen among animals people locked their homes in Agra | जानवरों के बीच अचानक दिखा तेंदुआ, चरवाहों में मची भगदड़, घरों में बंद हुए लोग | Patrika News

जानवरों के बीच अचानक दिखा तेंदुआ, चरवाहों में मची भगदड़, घरों में बंद हुए लोग

locationआगराPublished: Nov 18, 2023 04:47:59 pm

Submitted by:

Vishnu Bajpai

Leopard in Agra: उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में पिछले एक महीने से तेंदुए ने आतंक मचा रखा है। एक दिन पहले ही बच्चे पर हमला करने के बाद अब थाना सैंया क्षेत्र में तेंदुआ चरवाहों को नजर आया। इसके बाद वहां भगदड़ मच गई।

leopard_attack_in_agra.jpg
Leopard Attack in Agra: यूपी की ताजनगरी आगरा के थाना सैंया के बिरहरू गांव में आठ वर्षीय बालक डेविड पर हमला करने वाले तेंदुए का वन विभाग सुराग नहीं लगा पाया है। दो दिन बीतने के बाद भी ग्रामीणों की दहशत कम नहीं हुई है। यहां लोग अकेले निकलने में डर रहे हैं। महिलाओं और बच्चों को भी अकेले बाहर नहीं जाने दिया जा रहा। दहशत का अलम ये है कि लोग रात भर जागकर पशुओं की रखवाली कर रहे हैं। उधर, तेंदुए के हमले में घायल डेविड का अस्पताल में इलाज चल रहा है उसे 75 टांके लगे हैं। चिकित्सक ने उसकी हालत में सुधार बताया है। वहीं दूसरी ओर शुक्रवार को बासौनी और खेड़ा राठौर क्षेत्र के अंतर्गत चंबल के बीहड़ में तेंदुआ दिखने से ग्रामीण दहशत में है।
शुक्रवार को बासौनी और खेड़ा राठौर क्षेत्र के अंतर्गत चंबल के बीहड़ में तेंदुआ दिखने से ग्रामीण दहशत में है। चरवाहों ने बीहड़ इलाके में जाना छोड़ दिया है। बच्चों के घर से बाहर निकलने पर भी रोक लगा दी गई है। रात के समय रखवाली की जा रही है। शुक्रवार सुबह बासौनी के कैंजरा गांव के बीहड़ में एक टीले पर तेंदुआ दिखाई दिया। चरवाहों ने फोटो खींचा और गांवों की ओर भाग निकले। चरवाहों के गांवों में लौटते ही दहशत व्याप्त हो गई। उनकी जानकारी के बाद लोग एकजुट हो गए। उन्होंने महिलाओं व बच्चों का शाम के समय घर से निकलना बंद कर दिया है। पुरुष भी रात के समय पशुओं की रखवाली जागकर कर रहे हैं। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग के कर्मचारी गांव में पहुंचे और लोगों से सतर्क रहने की अपील की।

तेंदुए की दहशत में घरों के अंदर कैद हो गए लोग


वनकर्मियों ने चंबल के बीहड़ में भी तेंदुए की तलाश की, लेकिन वह उन्हें नजर नहीं आया। चंबल के बीहड़ में पिछले एक माह से तेंदुए की दहशत बनी हुई है। इसके लिए वन विभाग ने ड्रोन की मदद भी ली थी लेकिन वह नजर नहीं आया था। वन विभाग के बाह रेंजर उदय प्रताप ने बताया कि तेंदुए के बारे में पता लगाया जा रहा है। बीहड़ क्षेत्र तेंदुओं का घर है। वह विचरण करने और धूप सेंकने के लिए अक्सर बाहर निकल आते हैं। ऐसे में ग्रामीणों को सतर्क रहना चाहिए।

ट्रेंडिंग वीडियो