सपा की मैनपुरी और भाजपा की इस विधानसभा सीट पर किसी की दाल नहीं गलती

सपा की मैनपुरी और भाजपा की इस विधानसभा सीट पर किसी की दाल नहीं गलती
mulayam singh yadav

Amit Sharma | Publish: Apr, 20 2019 08:23:59 AM (IST) | Updated: Apr, 20 2019 08:24:00 AM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

सपा की तरह ये सीट भी भाजपा का सबसे मजबूत किला है। इसी कारण इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी की टिकट के लिए सर्वाधिक मारामारी रहती है।

 

आगरा। समाजवादी पार्टी के लिए मैनपुरी लोकसभा सीट सबसे मजबूत है। 1996 से मैनपुरी सीट पर सपा या उसका समर्थित उम्मीदवार ही सांसद चुनता चला आ रहा है। विधानसभा चुनाव की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी के लिए भी एक सीट ऐसी है, जहां उसे कोई हरा पाने की स्थिति में नहीं है। मतलब सपा की तरह ये सीट भी भाजपा का सबसे मजबूत किला है। इसी कारण इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी की टिकट के लिए सर्वाधिक मारामारी रहती है।

यह भी पढ़ें

प्रधानमंत्री की सभा आज एटा में, जानिए कितनी भीड़ आ रही है

mulayam singh yadav

मैनपुरी लोकसभा सीट

पहले बात करते हैं मैनपुरी लोकसभा सीट की। मैनपुरी लोकसभा सीट मुलायम सिंह का गढ़ है। मुलयाम सिंह के सामने हर दिग्गज की पराजय होती है। मैनपुरी के लोग मुलायम सिंह यादव को दद्दा के नाम पुकारते हैं। लोकसभा चुनाव 2019 को ही लें, मुलायम सिंह यहां दलबल के साथ सिर्फ पर्चा भरने आए थे। इसके बाद 19 अप्रैल, 2019 को बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती के साथ रैली में आए। सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव भी थे। अब वे मतदान के दिन यानी 23 अप्रैल को ही आएंगे। इसके बाद भी मुलायम सिंह यादव मैनपुरी में लाखों मतों से चुनाव जीतते चले आ रहे हैं। वे सीट छोड़ते हैं, तो जिसे चाहें उसे जिता देते हैं। मैनपुरी सीट का लोकसभा चुनाव परिणाम देखिए-

1996 मुलायम सिंह यादव

1998 बलराम सिंह यादव

1999 बलराम सिंह यादव

2004 मुलायम सिंह यादव

2004 धर्मेन्द्र यादव (उपचुनाव)

2009 मुलायम सिंह यादव

2014 मुलायम सिंह यादव

2014 तेज प्रताप यादव (उपचुनाव)

यह भी पढ़ें

सबसे बड़ा सवाल, कौन होगा जगन प्रसाद गर्ग का वारिस, कुछ नाम आए सामने

jagan prasad garg

आगरा उत्तर विधानसभा सीट

कुछ ऐसा ही हाल विधानसभा सीट आगरा उत्तर का है। 1985 से यहां भाजपा का कब्जा है। पांच बार सत्य प्रकाश विकल और पांच बार जगन प्रसाद गर्ग विधायक रहे। सत्य प्रकाश विकल के देहावसान के बाद उपचुनाव हुआ था। अब जगन प्रसाद गर्ग के देहावसान के बाद उपचुनाव 19 मई, 2019 को हो रहा है। यहां बहुजन समाज पार्टी ने पूरी ताकत लगा ली। वैश्य को टिकट देकर देख लिया, लेकिन वैश्य और बसपा कैडर वोटर मिलकर भी भाजपा को हरा नहीं पाए। हर बार भाजपा की जीत बढ़ती जा रही है। आगरा उत्तर विधानसभा सीट का चुनाव परिमाण इसका साक्षी है-

1985 सत्य प्रकाश विकल

1989 सत्य प्रकाश विकल

1991 सत्य प्रकाश विकल

1993 सत्य प्रकाश विकल

1996 सत्य प्रकाश विकल

1998 जगन प्रसाद गर्ग

2002 जगन प्रसाद गर्ग

2007 जगन प्रसाद गर्ग

2012 जगन प्रसाद गर्ग

2017 जगन प्रसाद गर्ग

यह भी पढ़ें

BIG NEWS आगरा उत्तर के लिए चुनाव कार्यक्रम जारी, जानिए कब होगा मतदान

क्या कहते हैं राजनीतिक विश्लेषक

राजनीतिक विश्लेषक डॉ. केएस राना का कहना है कि आगरा उत्तर सीट पर भाजपा के दोनों विधायक सत्य प्रकाश विकल और जगन प्रसाद गर्ग हमेशा जमीन से जुड़े रहे। उनसे कोई भी कभी भी मिल सकता था। दूसरे समय के साथ भाजपा का संगठन इतना विशाल हो गया है कि हर वोटर तक पहुंच बना ली है। लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीयता का मुद्दा हावी है और इसका लाभ अंततः भारतीय जनता पार्टी को ही मिलता है।

 

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned