भाजपा ने सपा को दिया एक और झटका, अविश्वास प्रस्ताव पास

Abhishek Saxena

Publish: Oct, 12 2017 04:54:34 PM (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
भाजपा ने सपा को दिया एक और झटका, अविश्वास प्रस्ताव पास

एत्मादपुर ब्लॉक प्रमुख राजाबेटी बघेल के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 67 वोट पड़े। खाली हुआ ब्लॉक प्रमुख का पद

आगरा। सूबे में भाजपा सरकार के बनने के बाद ब्लॉक स्तर के पदों पर भाजपाईयों की नजर रही है। जिला पंचायत अध्यक्ष के पद ही नहीं बल्कि ब्लॉक प्रमुख पदों पर काबिज सपा के पदाधिकारियों को भी हटाने की प्रक्रिया तेज हुई हैं। आगरा के एत्मादपुर में समाजवादी पार्टी की ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया। उनके विपक्ष में 80 सदस्यों में से कुल 67 सदस्यों ने मतदान किया। वहीं एक वोट निरस्त रहा। एत्मादपुर का ब्लॉक प्रमुख का पद रिक्त हो गया। अब यहां चुनाव के लिए प्रक्रिया शासन को भेजी जाएगी।

ब्लॉक प्रमुख एत्मादपुर के पद समाजवादी पार्टी की राजाबेटी बघेल सपा शासनकाल में जीत हासिल की थी। समाजवादी पार्टी ने उन्हें एत्मादपुर से विधानसभा चुनाव 2017 में टिकट भी दिया था। हालांकि वे विधानसभा चुनाव हार गईं थी। उनके खिलाफ बीते दिनों आगरा में जिलाधिकारी कार्यालय में अविश्वास प्रस्ताव के लिए 68 सदस्यों का हस्ताक्षर किया एक शपथ पत्र सौंपा गया था। जिसके बाद जिलाधिकारा आगरा गौरव दयाल ने एसडीएम एत्मादपुर रजनीश मिश्रा को वहां का पीठासीन अधिकारी बनाकर 12 अक्टूबर को विकास खंड में चुनाव के लिए नामांकित किया था। गुरुवार को सुबह ब्लॉक एत्मादपुर पर वोटिंग के लिए सदस्य एकत्रित हुए। इससे पहले सदस्यों की बैठक हुई। बैठक के बाद हुए मतदान में वर्तमान ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ 80 में से 68 सदस्यों ने वोटिंग में अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया।

एक वोट निरस्त
अविश्वास प्रस्ताव को लेकर हुई वोटिंग में कुल 67 सदस्यों ने उनके खिलाफ मतदान का प्रयोग किया। वहीं एक वोट निरस्त हुआ। अविश्वास प्रस्ताव पास होने के चलते अब एत्मादपुर का ब्लॉक अध्यक्ष का पद कल से रिक्त हो जाएगा। इस संबंध में शासन को एक पत्र लिखकर अवगत कराया जा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया था, जिसमें वोटिंग के आधार पर 67 सदस्यों ने पक्ष में मतदान किया। इस आधार पर ब्लॉक प्रमुख का पद अब कल से रिक्त हो जाएगा।

भाजपा और सपा के नेता दिखा रहे दावेदारी
समाजवादी पार्टी को उसके ही नेता हराने में लगे हैं। राजाबेटी बघेल के खिलाफ दाखिल किए गए अविश्वास प्रस्ताव में सपा के एक नेता ने बड़ी भूमिका निभाई। सूत्रों का कहना है कि अपनी पत्नी को भाजपा के समर्थन से ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी तक पहुंचाने के लिए वर्तमान ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ पूरा षडयंत्र रचा गया।

Ad Block is Banned