Makar sankranti सर्द मौसम में जब लोग रजाई में दुबके थे, RSS के स्वयंसेवक घरों की घंटी बजा रहे थे, देखें वीडियो

-कोहरा और गलन के बीच RSS की शाखा पर मनाया मकर संक्रांति पर्व

-विचार करें कि हमारा उद्देश्य पूरा हुआ या नहीं- देवेन्द्र प्रकाश दुबे

आगरा। मकर संक्रांति पर सुबह के समय भारी कोहरा और गलन थी। लोग ठिठुर रहे। रजाई से बाहर आने का मन ही नहीं हो रहा था। ऐसे सर्द मौसम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक घरों से बाहर थे। वे मकर संक्रांति मनाने के लिए अन्य लोगों के घरों की कुंडी और घंटी बजा रहे थे। सुबह के जैसे ही साढ़े सात बजे, सब शास्त्रीपुरम में टंकी वाले पार्क में आ गया। यहीं पर केशव शाखा लगाई जाती है। बिछावन तैयार थी। ध्वज प्रणाम के बाद सब बैठ गए।

यह भी पढ़ें

हम हिन्दू धर्म और हिन्दू संस्कृति के लिए काम करते हैं, देखें वीडियो

मकर संक्रांति के 16 नाम

स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए विचारक और सरस्वती शिशु मंदिर के पूर्व प्रधानाचर्य देवेन्द्र प्रकाश दुबे ने मकर संक्रांति पर्व की महत्ता बताई। उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति पूरे देश में मनाया जाता है। पंजाब और हरियाणा में माघी कहा जाता है। मकर संक्रांति के 16 नाम हैं, लेकिन सब जगह मनाने का भाव एक ही है। विविधता में एकता है। उन्होंने कहा कि त्योहार मनाने के पीछे उद्देश्य यह है कि हम जन-जन तक जाएं। अधिक से अधिक घरों तक पहुंचें। परिचय करें। अनेक नए लोग मिल जाते हैं। यह कार्य के विस्तार का अवसर होता है। इसीलिए सामाजिक समरता का कार्यक्रम लिया है।

यह भी पढ़ें

RSS की शाखा पर Makar sankranti उत्सव का उल्लास, देखें वीडियो

RSS

बस्तियों में जाएं

श्री दुबे ने कहा कि उद्देश्य यह है कि जिन बस्तियों में शाखाएं नहीं लगा पाते हैं, हमारी पकड़ कमजोर है, वहां जाएँ, उन्हें अपने पास लाएं। उनमें जो भाव है कि ये हमसे दूर रहना चाहते हैं, उसे दूर करें। कभी संघी के नाम पर जाति का नाम लेकर गाली दी जाती है। शहरों में भी संघ के बारे में बहुत कम लोग जानते थे। संघ के नाम पर कोई चाय पिलाने वाला नहीं था। अब लाखों स्वयंसेवक हैं। समाज के हर क्षेत्र में काम चल रहा है। धीरे-धीरे आगे बढ़ते गए। हम अपने को गौरवान्वित महसूस करते हैं। जिस उद्देश्य के लिए काम कर रहे हैं, वह पूरा हुआ या नहीं, इस पर भी विचार करना चाहिए।

यह भी पढ़ें

कृष्ण नगरी में चिन्हित किए गए पाकिस्तान से आए शरणार्थी, CAA के तहत मिलेगी नागरिकता

RSS
IMAGE CREDIT: Patrika

आरएसएस में सिखाया जाता है सेवा करना

कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. सतीश ने की। उन्होंने कहा कि आरएसएस से अच्छा कोई संगठन नहीं है। आरएसएस में ही सेवा करना सिखाया जाता है। इस मौके पर महानगर कार्यवाह भारत भूषण, योग प्रमुख राजकिशोर सिंह, नगर व्यवस्था प्रमुख नवीन अग्रवाल, दीपक पाराशर, नगर कार्यवाह लक्ष्मण प्रसाद, शारीरिक प्रमुख रूपेश, थान सिंह, सुरेन्द्र कुमार सिंह, मुकेश गोयल आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

Show More
Bhanu Pratap Desk/Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned