मीट एट आगरा ने रखी पांच हजार करोड़ रुपए के व्यापार की नींव

-तीन दिन के फेयर में साढ़े बारह हजार लोगों ने की सहभागिता
-चार सर्वोत्तम प्रदर्शक किए गए सम्मानित...

आगरा। मीट एट आगरा के 13 वें संस्करण में जहां 5527 बिजनेस विजिटर्स आए, वहीं ओवर आल फुटफाल साढ़े बारह हजार लोगों का रहा। इससे जहां विंटर सीजन की तैयारी और सैंपलिंग की शुरुआत हुई, वहीं 4 से 5 हजार करोड रुपए के व्यापार की नींव भी इस मेले में रखी गई...यह जानकारी एफमैक के प्रेसिडेंट पूरन डाबर ने रविवार शाम सींगना गांव में बने अत्याधुनिक आगरा ट्रेड सेंटर में आगरा फुटवियर मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्टर्स चेंबर (ऐफमेक) द्वारा आयोजित तीन दिवसीय लेदर, फुटवियर कॉम्पोनेंट्स एवं तकनीकी मेला के 13 वें संस्करण के समापन पर पत्रकारों से साझा की।

नई पीढ़ी को मिली स्वरोजगार की प्रेरणा
उन्होंने बताया कि इस फेयर में नई पीढ़ी को जहां स्वरोजगार की प्रेरणा दी गई, वहीं कई ऐसी मशीनें सामने आईं जिनसे महिला उद्यमिता और घरेलू उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। उदाहरण के लिए फ्लाइनेट कपड़े के जूते की मशीन का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि घर में इस मशीन को लगाकर मात्र 100 से ₹150 में बढ़िया जूता तैयार किया जा सकता है।फिर इसे ऑनलाइन 400 से ₹500 में बेच कर घरेलू महिलाएं व युवा भी अपने व्यापार को बढ़ा सकते हैं। इस मौके पर पर प्रदर्शकों ने भी अपने अनुभव साझा किए और मेला की सराहना की। रेणुका ढंग ने कहा कि यह इस फेयर को ही श्रेय जाता है कि अब हमको बाहर नहीं जाना पड़ता। अब दुनिया आगरा के पास चलकर आ रही है।

अगले वर्ष की तारीख हुई तय
एक अन्य प्रदर्शक के ध्यान दिलाए जाने पर आयोजकों ने कहा कि शीघ्र ही आगरा में फुटवियर डिजाइन फेयर लगाया जाएगा। साथ ही मीट एट आगरा के चौदहवें संस्करण की तिथि 30 अक्टूबर से 1 नवंबर 2020 घोषित की गई। इसके लिए एक सप्ताह बाद ही स्टॉल बुकिंग करने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएगा। समापन सत्र का संचालन राजेश सहगल व माला खेड़ा ने किया। महासचिव राजीव वासन ने आभार व्यक्त किया। इस दौरान उपाध्यक्ष गोपाल गुप्ता, कन्वीनर कैप्टन एएस राणा, शारदा ग्रुप के चेयरमैन वाईके गुप्ता, सेंट्रल फुटवियर ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर सनातन साहू, जेएस खेड़ा, कर्नल विजय तोमर व ललित अरोड़ा प्रमुख रूप से मंच पर मौजूद रहे।

इन्हें मिला सम्मान
मीट एट आगरा में लगाई गई विशाल अंतर्राष्ट्रीय भव्य प्रदर्शनी में 10 देशों के 225 से अधिक स्टालों में इटली की स्मार्ट ऐडहेसिव बोस्टिक और जर्मनी की इंसोल सीट टैक्सोन के डिस्ट्रीब्यूटर श्रॉफ ग्रुप, शू फिनिशिंग केमिकल्स 'बायो सेंट्रो' में डील करने वाले एसएस सेल्स कॉरपोरेशन, शू एक्सेसरीज एंड कंपोनेंट्स के विक्रेता एसके सेल्स कॉरपोरेशन और फिनिश्ड लेदर के विक्रेता एमआर लेदर्स सहित चार कंपनियों को फेयर के समापन पर रविवार शाम एफमैक के पदाधिकारियों द्वारा सर्वोत्तम प्रदर्शक का क्रमशः प्रथम, द्वितीय, तृतीय व चतुर्थ सम्मान प्रदान किया गया। साथ ही इस इंटरनेशनल फेयर के आयोजन में सहयोगी प्रायोजकों को भी मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। इनमें प्लैटिनम स्पॉन्सर कैप्शन वर्ल्ड वाइड व स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अलावा गोल्ड स्पॉन्सर विक्टर स्प्रीन, एचडीएफसी बैंक, धुपर, डीएसएम सोल्स, डाबर शूज, गुप्ता ओवरसीज, लांबा फुटवियर, वैनीला मून, अल्बर्टो टोरेसी और केएलजे ग्रुप, सिल्वर स्पॉन्सर एसके सेल्स कॉरपोरेशन, हरिओम, टीयूवी 500, सुपर हाउस ग्रुप, अमरनाथ एंड संस, श्रॉफ ग्रुप, ब्राइटवेज इंटरनेशनल, टाइकौम्प एमरेन, आरआई कप्तान रबर, डाइकन एसी व एफडीडीआई प्रमुख रूप से शामिल रहे। अब तक की सर्वोत्तम डायरेक्टरी तैयार करने के लिए कमेटी चेयरमैन जेएस खेड़ा और मीट एट आगरा को बेहतरीन ढंग से आयोजित करने के लिए एडमिन व इवेंट कोऑर्डिनेटर चंद्रशेखर को भी मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। साथ ही बेस्ट कॉम्पोनेंट प्रोड्यूसर में वर्सेटाइल इंडस्ट्रीज को प्रथम, केंडा फॉर्मिंग को द्वितीय और इमेजिंग फाइबर्स को तृतीय अवार्ड दिया गया। एफमैक के प्रेसिडेंट पूरन डाबर, महासचिव राजीव वासन, उपाध्यक्ष राजेश सहगल व गोपाल गुप्ता, कन्वीनर कैप्टन एएस राना, सचिव ललित अरोरा और कार्यकारिणी सदस्य सुनील मनचंदा ने सभी को मोमेंटो देकर सम्मानित किया। रावी इवेंट ने प्रबंधन की जिम्मेदारी संभाली।

प्रदर्शनी में मेक इन इंडिया को मिली सराहना...
मीट एट आगरा के तीसरे दिन आगरा जोन के आईजी सतीश गणेश ने सपत्नीक अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी देखी और कई स्टॉल्स पर मेक इन इंडिया के तहत लगाए गए उत्पादों और तकनीक को सराहा। मेक इन इंडिया को प्रोत्साहित कर रहे इमेजिंग फाइबर्स के ऐसे ही एक स्टॉल पर उनको एफमैक के प्रेसिडेंट पूरन डाबर ने बुके देकर स्वागत किया। इमेजिंग फाइबर्स के विनोद सीतलानी ने बताया कि यह फाइबर शीट शू के इंसोल में लगाई जाती है। यह चीन से आयात की जाती रही है पर मेक इन इंडिया के तहत अब यह भारत में बनाई जा रही है। जयपुर में इमेजिंग फाइबर्स ने इस को लॉन्च किया है।

धीरेंद्र यादव
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned