सड़क पर नमाज पढ़ने पर लगाई रोक

रहमानिया मस्जिद के बाहर सड़क पर नमाज पढ़ने पर रोक लगा दी गयी है। इमाम कमरुद्दीन का दावा है कि चौकी इंचार्ज ने कहा है कि अगर सड़क पर नमाज पढ़ी जाएगी तो क

By: अमित शर्मा

Published: 18 Aug 2017, 04:54 PM IST

बरेली। चौकी चौराहे स्थित रहमानिया मस्जिद के बाहर सड़क पर नमाज पढ़ने पर रोक लगा दी गयी है। पुलिस चौकी में मस्जिद के इमाम को बुलाकर सख्त हिदायत दी गई है कि मस्जिद के बाहर नमाज न पढ़ाई जाए। क्योंकि शुक्रवार और ईद पर नमाजियों की भीड़ रहती है इसलिए केवल ईद एवं जुमे को सड़क पर नमाज पढ़ी जा सकती है।

जानकारी के अनुसार चौकी चौराहे पुलिस चौकी के इंचार्ज ने मस्जिद के इमाम कमरुद्दीन को बुलाकर ईद की नमाज और जुमे की नमाज को छोड़ कर बाकी नमाजों को मस्जिद के अंदर ही करने को कहा है। शुक्रवार और ईद को नमाजियों की संख्या अधिक होती है इसलिए नमाज मस्जिद के बाहर हो सकती है लेकिन अन्य दिनों में लोगों की भीड़ कम होती है इसलिए मस्जिद के अंदर ही नमाज अदा होगी। मस्जिद के इमाम ने बताया कि पुलिस ने बुलाकर उनसे कहा है कि मस्जिद में सिर्फ ईद और जुमे की नमाज बाहर पढ़ी जाएगी बाकी दिनों में नमाज मस्जिद के अंदर होगी। ऐसा न करने पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं इस बारे में कोतवाली के इंस्पेक्टर गीतेश कपिल ने ऐसा कोई मामला होने से इनकार किया है। 970-71 के बीच तामील हुई इस रहमानिया मस्जिद को लेकर इस तरह के आदेश के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है।

मामला पकड़ सकता है तूल

मस्जिद के बाहर सड़क पर नमाज से रोक का ये मामला तूल भी पकड़ सकता है क्योंकि काफी समय से नमाजी मस्जिद के बाहर सड़क पर बैठ कर नमाज पढ़ते चले आ रहे हैं ऐसे में अब इस पर रोक से नमाजी एतराज जता सकते है।

क्या था मुख्यमंत्री का बयान

प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने संघ के एक कार्यक्रम में अपने सम्बोधन के दौरान कहा था कि अगर ईद पर सड़क पर नमाज पढ़ी जा सकती है तो थानों में जन्माष्टमी क्यों नहीं मनाई जा सकती। उन्होंने कहा था कि अगर लाउडस्पीकर हटने चाहिए तो सभी धार्मिक स्थलों से हटने चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि कांवड़ यात्रा में लाउडस्पीकर क्यों नहीं बज सकता है ये कांवड़ यात्रा है कोई शव यात्रा नहीं।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned